सिक्योरिटी गार्ड बन जिंदगी काटने को मजबूर है अनुराग कश्यप की फिल्मों का एक्टर

सावी कहते हैं-''थियेटर में जाकर फिल्म देखने तो सपना है अब,बहुत फिल्में मिस कर रहा हूं देखने का मन करता है लेकिन मेरी माली हालत ऐसी नहीं है.''

बॉलीवुड में लाइफ पल पल रंग बदलती है.कुछ लोग ऊंचाईयां हासिल करते हैं तो कुछ के हिस्से में सब कुछ होकर या मेहनत करके भी नाकामी हाथ लगती है.इस वजह से उनकी जिंदगी बेहद मुश्किल दौर से गुजरती है.ऐसी ही एक कहानी आज हम आपको बताने जा रहे हैं जिसे पढ़कर आपको रोना आ जायेगा.यह कहानी है सावी सिद्धू की जिनका पांच मिनट लम्बा वीडियो फिल्म कम्पेनियन के यू-ट्यूब चैनल पर शेयर किया गया है.

आप सोच रहे होंगे कि यह सावी सिद्धू कौन हैं तो हम आपको बता दें कि ‘गुलाल’, ‘पटियाला हाउस’, ‘ब्लैक फ्राइडे’ जैसी फिल्मों में काम कर चुके एक एक्टर हैं जो अब अपनी जिन्दगी का गुजारा मुंबई में एक सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करके कर रहे हैं. सावी इस वीडियो में बताते हैं-”अनुराग कश्यप स्ट्रगल करते हुए मिले तो उन्होंने मुझे पांच में लिया, उनकी जो पहली फिल्म थी, रिलीज नहीं हुई, उसके बाद उन्होंने मुझे ब्लैक फ्राइडे में लिया, इसमें मैंने कमिश्नर सामरा का रोल प्ले किया फिर उसके बाद मैंने उनकी गुलाल भी करी, सुभाष घई, निखिल आडवाणी के साथ यशराज की पटियाला हाउस भी की.

काम की कभी प्रॉब्लम नहीं हुई, मुझे ही छोड़ना पड़ा कि मैं नहीं कर पा रहा हूँ,मुझे ऐसा लगता था कि सब मेरा इंतजार कर रहे हैं,यहाँ लोगों को काम नहीं मिलता और मेरे पास इतना काम है कि मैं काम नहीं कर पा रहा,मेरी हेल्थ प्रॉब्लम बढ़ रही है,पैसे की परेशानी हो रही है,फिर जब मेरी पत्नी का देहांत हुआ तो मैं टूट गया,उसके बाद पिता,मां और यहाँ तक कि मेरे सास-ससुर की भी डेथ हो गयी.अचानक से मैं अकेला हो गया.मेरे पास बस के पैसे नहीं हैं कि निर्माताओं के पास मिलने जाऊं, थियेटर में जाकर फिल्म देखने तो सपना है अब,बहुत फिल्में मिस कर रहा हूं देखने का मन करता है लेकिन मेरी माली हालत ऐसी नहीं है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here