परेश रावल: सरकार की आलोचना करना ठीक है, लेकिन सेना और देश की नहीं

परेश ने अजीत डोभाल (भारत के प्रधान मंत्री के वर्तमान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार) की भूमिका निभाई है.

परेश रावल बॉलीवुड के सबसे बेहतरीन एक्टर्स में से एक हैं. वह फिल्म में दी गयी अपनी किसी भी भूमिका को बेहद शानदार तरीके से निभाते हैं. एक्टर की फिल्म यूआरआई: द सर्जिकल स्ट्राइक आज रिलीज हुई है और फिल्म ने दर्शकों और आलोचकों को समान रूप से प्रभावित किया है. बता दें कि यह फिल्म भारतीय सेना द्वारा 2016 में पाकिस्तान द्वारा डोमिनेट कश्मीर में किए गए सर्जिकल स्ट्राइक को दर्शाती है.

परेश ने अजीत डोभाल (भारत के प्रधान मंत्री के वर्तमान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार) की भूमिका निभाई है. एक अखबर को दिए इंटरव्यू में परेश ने कहा है सरकार की आलोचना करना ठीक है लेकिन अपने देश और सेना की आलोचना करना बोलने की आजादी को बहुत आगे लेकर जा रहा है.

मधुर भंडारकर की अगली फिल्म इंस्पेक्टर ग़ालिब में लीड रोल निभाएंगे सुशांत सिंह राजपूत?

इंटरव्यू के दौरान परेश से पूछा गया कि फिल्म के निर्देशक आदित्य धर ने कहा है कि यूआरआई पाकिस्तान विरोधी नहीं बल्कि आतंकवाद विरोधी है, इस बारे में आप क्या कहते हैं. इसके जवाब में परेश ने कहा, “मुझे जिंगिस्टिक सिनेमा से नफरत है, जो अनावश्यक रूप से पाकिस्तान को कोसता है. उरी में हम सेना के जज्बे की बात करते हैं. वह मिशन सेना और मजबूत राजनीतिक इच्छाशक्ति के कौशल और बहादुरी की जीत थी. मुझे लगता है कि सेना को कोसना आज फैशन बन गया है. लोग अनाप शनाप केहते हैं. सरकार की आलोचना करना ठीक है, ऐसा करने के लिए आपका स्वागत है, लेकिन आपकी सेना और देश की आलोचना करते हैं तो वह बहुत दुखद बात है. आप आग से खेल रहे हो. हम भाग्यशाली हैं कि हमारी सेना लोकतांत्रिक मूल्यों में विश्वास करती है. जिस हालत में वह काम करते हैं, उसको तो समझिए आप.”

उरी: सर्जिकल स्ट्राइक में विक्की कौशल और यामी गौतम लीड रोल में हैं. कीर्ति कुल्हारी और मोहित रैना ने भी फिल्म में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

LEAVE A REPLY

avatar