Exclusive: क्या संजय लीला भंसाली फिल्म ‘बैजू बावरा’ की रीमेक बनाने वाले हैं?

भारतीय हिंदी सिनेमा में अगर कुछ शानदार निर्देशकों की बात होगी तो उसमे एक नाम निर्देशक संजय लीला भंसाली का ज़रूर आएगा. पिछले महीने ही हमने आपको बता दिया

भारतीय हिंदी सिनेमा में अगर कुछ शानदार निर्देशकों की बात होगी तो उसमे एक नाम निर्देशक संजय लीला भंसाली का ज़रूर आएगा. पिछले महीने ही हमने आपको बता दिया था कि निर्देशक तीन-चार प्रोजेक्ट्स को देख रहें हैं. उन प्रोजेक्ट्स में ही ये फैसला करेंगे कि आगे किस पर काम करना है.

उन प्रोजेक्ट्स में कई तरह की फ़िल्में शामिल थीं जैसे कि गैंगस्टर ड्रामा, हिस्टोरिकल मूवी, लव स्टोरी या फिर दो स्टार्स के साथ बनाई जाने वाली मूवी. आज अब पीपिंगमून.कॉम ये बताने वाला है कि वो कौन सा पहला प्रोजेक्ट होगा जिसपर संजय लीला भंसाली काम कर सकते हैं.

ये फिल्म ‘म्यूजिकल हिस्टोरिकल’ बेस्ड मूवी होगी. पीपिंगमून.कॉम को पता चला है कि संजय लीला भंसाली निर्देशक विजय भट्ट की 1952 की मेगा हिट मूवी ‘बैजू बावरा’ की रीमेक के ऊपर काम कर सकते हैं. इस फिल्म को हिंदी सिनेमा में स्वर्णिम अक्षरों से याद किया जाता है. जिस दौर में ये फिल्म रिलीज़ हुई थी तब इसने बॉक्स ऑफिस पर 100 हफ्ते चलने का कीर्तिमान स्थापित किया था. तब इस फिल्म में अभिनेता भरत भूषण के साथ मीना कुमारी ने मुख्य भूमिका निभायी थी.

निर्देशक संजय लीला भंसाली हमेशा से इस मूवी का हिंदी रीमेक बनाना चाहते थे. फिल्म ‘बैजू बावरा ना सिर्फ उस दौर में बल्कि आज के समय में भी हिंदी सिनेमा के क्लासिकल मील के पत्थर के तौर पर याद की जाती है. साल 1952 में रिलीज़ हुई म्यूजिकल फिल्म ‘बैजू बावरा’ ना सिर्फ उस साल की दूसरी सबसे ज्यादा कमाई करने वाली मूवी थी, बल्कि उस दशक की आठवीं सबसे बड़ी हिंदी सिनेमा की हिट फिल्म साबित हुई थी.

इस फिल्म में वो सभी पहलु हैं जो निर्देशक संजय लीला भंसाली चाहते हैं. इस फिल्म में शानदार आवाज़ से नवाज़ा गया नायक भी है, एक संकोची सी नायिका भी है और एक खलनायक भी है. आपको बता दें कि उस दौर में ये ब्लैक एंड वाइट क्लासिक मूवी इस भरी दुनिया में गुमनाम से गायक बैजू बावरा के जीवन के इर्द गिर्द फिल्माई गयी मूवी थी.

इसके साथ ही साल 2010 अमेरिकन-इंडियन लेखक कृष्णा शाह इस फिल्म के रीमेक की घोषणा भी की थी. जिसका टाइटल उन्होंने ‘बैजू’ दिया था. उस फिल्म में आमिर खान के लीड रोल में रहने की बात भी थी, साथ ही साथ फिल्म का म्यूजिक ए.आर रहमान तैयार करने वाले थे. उसके बाद में बात ना बन सकी और फिल्म ठंडे बस्ते में चली गयी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here