अक्षय कुमार ने अपने इंटरव्यू में देश के युवाओं को दिया बड़ा संदेश

अक्षय कुमार की ‘गोल्ड’ इस 15 अगस्त 2018 के दिन बड़े पर्दे पर दर्शकों से रूबरू होगी.

बॉलीवुड के खिलाडी यानी अक्षय कुमार बहुत जल्द अपनी फिल्म ‘गोल्ड’ के साथ सिल्वर स्क्रीन पर धूम मचाने वाले हैं. वहीं इस फिल्म के इंटरव्यू में जब उनसे उनकी फिल्म से जुड़े सवाल पूछे गये. तब उन्होंने बातों बातों में देश के युवाओं के लिए एक खास अंदाज भी दे दिया. तो चलिए देखते हैं क्या है अक्षय कुमार का संदेश देश के यूथ के लिए.

जब अक्षय कुमार से यह सवाल किया गया कि जब वह इस तरह की फिल्में यानी एयरलिफ्ट, टॉयलेट: एक प्रेम कथा से लेकर पैडमैन और अब गोल्ड में काम कर रहे हैं. इन्हें करते वक्त मन में सबसे पहला कुआ ख्याल आता है ? तब अक्षय कुमार ने जवाब में कहा “एक दिन क्या हुआ कि मैं बैठा हुआ था, तब मेरे पड़ोस में रहने वाला एक बच्चा वहां था, तब हमारी बात हो रही थी कि एलियन अटैक कर रहे हैं. तब उसके मुह से झट से यह बात निकल गई कि अमेरिका उनसे बचाएगा.”

अक्षय कुमार ने बताई ‘गोल्ड’ फिल्म के टाइटल के पीछे की कहानी

आगे अक्षय ने बताया कि “उसने ऐसा क्यों कहा जिसका जवाब यह है कि हमें भी लगता है. क्योंकि बचपन से हम हॉलीवुड फिल्में देखते आ रहे हैं. हमें हॉलीवुड फिल्मों के द्वारा यह सिखाया जाता है कि अमेरिका हमें बचाएगा. अगर कोई आतंकवादी अटैक करेगा तो अमेरिका बचाएगा. कहीं भी कुछ होगा तो अमेरिका बचाएगा. मतलब की अमेरिका एक सुपर पॉवर है और बड़ा देश है यह बात हॉलीवुड ने हमारे दिमाग में डाल दिया है. अब हमें इस बात को बदलना है. हमें अब यह बताना है कि भारत बड़ा और अच्छा देश है. एयरलिफ्ट होगा तो इंडिया बचाएगा. उनके पास उनकी 300 की कहानी है तो हमारे पास उनसे बड़ी 21 सरदारों की कहानी है, जिन्होंने मिलकर लगभग 10 हजार लोगो से लड़ाई की थी. हम अपने 21 पर कहानी नहीं बना पाते और वह अपने 300 पर बनाते हैं. तो इसके पीछे आईडिया यह है कि इंडिया को ब्रांड इंडिया बनाना है. यह फिल्मों के द्वारा हमें बताना है जो उन्होंने किया है. क्योंकि जो एक बच्चा बोल रहा है, अगर एलियन अटैक करेगा तो अमेरिका हमें बचाएगा क्यों भाई हम क्यों नहीं कर सकते… हम सब कर सकते हैं.”

अक्षय कुमार इस तरह से हमारे युवा पीढी को यह संदेश दे रहे हैं कि हमारा देश किसी मामले में किसी भी दूसरे देश से कम नहीं है. हम वह सारी चीजे कर सकते हैं, जो कोई और बड़ा देश कर सकता है. साफ लाफों में कहे तो अक्षय इंडिया को किसी भी मामले में कम नहीं बल्कि उनसे बेहतर कहने की कोशिश कर रहे हैं.

‘गोल्ड’ के किरदार के बारे में अक्षय कुमार ने कही यह बड़ी बात

वहीं बात करें अक्षय कुमार की गोल्ड की तो अक्षय कुमार अभिनीत ‘गोल्ड’ एक हॉकी खिलाड़ी की वास्तविक जीवनगाथा पर आधारित है जिसने स्वतंत्र भारत के लिए पहला स्वर्ण पदक हासिल कर के भारत का सर गर्व से ऊपर किया था. इस फिल्म में भारत के लिए पहला गोल्ड का सपना देखने वाले हॉकी खिलाड़ी की यात्रा को दर्शाया गया है.

फिल्म की ट्रेलर की बात करें तो उसमे एक हॉकी मैनेजर की यात्रा और स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में भारत को उसका पहला गोल्ड मैडल जीताने के जुनूनी सपनो को दिखाया गया है. जबकि हमने ब्रिटिश राज के तहत कई पदक जीते थे, लेकिन इस स्वर्ण पदक की कहानी विशेष थी.

एक्सेल एंटरटेनमेंट बैनर के तहत, रितेश सिधवानी और फरहान अख्तर द्वारा निर्मित और रीमा कागती द्वारा निर्देशित ‘गोल्ड’ 15 अगस्त 2018 के दिन बड़े पर्दे पर दर्शकों से रूबरू होगी.

LEAVE A REPLY

avatar