रामायण के बाद मेरा फ़िल्मी करियर लगभग खत्म हो गया था- अरुण गोविल 

By  
on  

भगवान राम का नाम लेने पर अगर किसी की छवि पहले आंखों के सामने आती है तो वह रामानंद सागर की 'रामायण' के राम है. इस धारावाहिक के सभी किरदार को लोगों ने खूब पसंद किया. खासकर राम लक्ष्मण और सीता का किरदार निभाने वाले, अरुण गोविल, सुनील लहरी और दीपिका चिखलिया को घर- घर लोग पूजने लगे.  जहां भी ये तीनों जाते लोग आरती उतारते और फूलों की बरसात करते. इतना ही नहीं इनके पैरों छूकर लोग आशीर्वाद भी लेते थे. 

इस धारावाहिक के मुख्य पात्र अरुण (राम) का कहना है कि रामायण के बाद उन्हें फिल्मों में कम काम मिलने लगा. एक वेबसाइट के अनुसार अरुण का कहना है कि रामायण के बाद मेरा फ़िल्मी करियर लगभग ख़त्म हो गया. उससे पहले मैं फिल्म कर रहा था. यह किरदार इतना मजबूत था कि इसके बाद फिल्में कम हो गई. मैंने कुछ सीरियल्स में काम करने की कोशिश की और इस छवि से बहार निकलने की कोशिश की लेकिन ऐसा हो नहीं पाया.  मुझे बाद में एहसास हुआ की शायद भगवान चाहते हैं कि मैं राम बनकर रहूं. कितने कम लोगों को यह मौका मिला है. लोग मुझे अरुण गोविल के  बल्कि राम के नाम से जानते हैं. 

वहीं सीता का किरदार निभानेवाली दीपिका की बात करें तो रामायण की सफलता के बाद उनके लिए काम के दरवाजे खुल गए.  दीपिका को फिल्मों का भी ऑफर मिल रहा है. उनकी लेटेस्ट फिल्म बाला थी, जिसमें उन्होंने यामी गौतम की मां का किरदार निभाया था. 

 

(Source: India Today)

Recommended

Loading...
Share