एक्ट्रेस पारोमिता डे को मिली जान से मारने और रेप की धमकी, सोशल मीडिया पर बयां की पीड़ा

By  
on  

कोरोना की इस ग्लोबल क्राइसिस में लोगों को जहां इंसानियत दिखानी चाहिए वहां हमारे समाज की ऐसी शर्मनाक तस्वीर सामने आई है जो हम सभी को शर्मिंदा कर देगी. दरअसल कोककाता में एक्ट्रेस पारोमिता डे के घर पर, कुछ लोग इकट्ठा हुए और उन्हें बलात्कार की धमकी देना शुरु कर दिया. जी हां सही सुना आपने एक भीड़ जो एक कलाकार को रेप की धमकी दे रही है.  पारोमिता ने कई बार कोलकाता पुलिस से मदद मांगी लेकिन अभी तक पारोमिता को पुलिस से कोई मदद नहीं मिली. पारोमिता ने फेसबुक लाइव के जरिए पूरे मामले की जानकारी दी है. पारोमिता पिछले 6 साल से मुंबई में रहती हैं. पारोमिता मूल रूप से कोलकाता की रहने वाली हैं. आईये बताते है आपको पूरा मामला क्या है. 

दरअसल कोरोना वायरस के डर के चलते  19 मार्च को पारोमिता अपने बूढ़े माता-पिता के साथ रहने के लिए मुंबई से कोलकाता चली गई. 19 मार्च को भारत बंद नहीं हुआ था. 19 मार्च को पारोमिता के कोलकाता एयरपोर्ट पर पहुंचने पर कोरोना टेस्ट भी हुआ जो नेगेटिव पाया गया. पर पारोमिता की मां 70 साल से ऊपर है जिसके मद्देनजर वो 10 दिनों के लिए सेल्फ आइसोलेशन में चली गई. 
पारोमिता ने कहा कि, ''मैं देश की एक जिम्मेदार नागरिक हूं. मैं चाहती थी कि मेरा जो एयर पोर्ट पर कोरोना वायरस के लिए टेस्ट हुआ था...मुझे उसकी रिपोर्ट दी जाये. मुझे एक लेटर या सर्टिफिकेट दिया जाये. जो इस बात का प्रूफ हो कि मुझे कोरोना वायरस नहीं है. साथ ही मुझे सोशल डिस्टेंसिंग के लिए एक जगह दि जाये. क्योंकि मेरी मां 70 साल की है. उनको मुझसे थोड़ा भी खतरा ना हो इसलिए. लेकिन यह वास्तव में बहुत दुखद है कि मुझे सपोर्ट देने और मेरे जांच के सर्टिफिकेट देने के बजाय एयरपोर्ट पर मौजूद सरकारी लोगों ने मुझे किसी भी प्रकार के जांच के सर्टिफिकेट देने से इनकार कर दिया. मेरी इस बात को लेकर एयर पोर्ट पर लोगों से बहस भी हुई''


पारोमिता ने  आगे कहा कि, ''अपने घर पहुंचने के बाद मैं अपने 70 वर्षीय माता-पिता के साथ बातचीत कर रही थी. जब दोपहर के लगभग 2.30 बजे थे. जब पश्चिम बंगाल की दो पुलिस ने मेरे घर में घुसने की कोशिश की, जिससे मेरे बूढ़े माता-पिता डर गए, वे कुछ कागजात के बारे में पूछते रहे और मैंने उनसे बहुत विनम्रता से कहा कि .. एयरपोर्ट  पर मुझे किसी भी तरह के जांच की रिपोर्ट नहीं दी गई हैं. ये पुलिस अधिकारी जो बिना महिला पुलिस या कॉन्स्टेबल के भी मेरे घर पर आ जाती हैं और मुझे धमकी देती है. मैं बिना किसी कारण के अस्पताल के चक्कर क्यों काटू. मैंने पुलिस को एयरपोर्ट की पूरी बाते बताई फिर भी पुलिस ने मुझे धमकी देना शुरू कर दिया. मैंने इस घटना का वीडियो लिया जिसमें उन्होंने मुझे रिकॉर्ड ना करने की धमकी भी दी.''

पारोमिता ने आगे कहा कि, ''जब मैंने महिला हेल्पलाइन नम्बर पर कॉल किया, जिसने भी फोन उठाया उसने मेरा ही मज़ाक उड़ाना शुरू कर दिया. मुझे गलत शब्द बोले गए. इसी के बाद शाम को लगभग 8 बजे लगभग 50 से 60 पुरुषों ने मेरे घर पर पत्थर फेंकना शुरू कर देते है. मेरे नाम लेकर गंदी गंदी गालियां देते हैं. ये अजीब आवाज़े सुनकर मैं अपनी बालकनी में गई और वास्तव में उनके साथ गाली-गलौज करने पर मुंह तोड़ जवाब देना चाहती थी पर मुझे डर हैं मैं कुछ भी करूंगी तो मेरे साथ बुरा हो सकता हैं. मुझे नहीं पता 50 पुरुषों के साथ-साथ कुछ महिलाओं का हौसला इतना कैसे बढ़ गया कि और उन्होंने मुझे बलात्कार की धमकी दे दी. हम इन लोगोंकी धमकियों से डरे हुए है. अपने ही घर में मौत के साये में हैं. मैंने और मेरे माता-पिता ने पूरी रात इन लोगों को नोटिस किया ये लोग मेरे घर के आस पास ही घूम रहे हैं.'' 

पारोमिता ने आगे कहा, ''क्या होगा अगर ये 50 लोग मुझे सड़क पर पकड़ लेते हैं और मेरे साथ बलात्कार कर लेते हैं और मेरे माता-पिता को मारते हैं. मैं अपने और अपने परिवार के लिए तत्काल सुरक्षा की अपील करती हूं और इन 50 लोगों के खिलाफ कुछ कठोर कार्रवाई की गुजारिश करती हूं.''

(Source-Facebook/ BreakingBoom)

Recommended

Loading...
Share