गूगल ने जोहरा सहगल का डूडल बनाकर आइकोनिक इंडियन एक्टर को किया याद

By  
on  

भारत की शानदार अदाकारा जोहरा सहगल का डूडल बना गूगल ने उन्हें याद किया है. जोहरा एक्ट्रेस और डांसर होने के साथ कोरियोग्राफर भी थी. जोहरा भारत की पहली ऐसी महिला कलाकार थी जिन्हे अंतर्राष्ट्रीय मंच पर पहचान मिली. उन्हें 1998 में पद्म श्री, 2001 में कालिदास सम्मान और 2010 में पद्म विभूषण सहित देश के सर्वोच्च पुरस्कार से नवाजा गया. गूगल ने अपने ददोड़ाल में उनकी क्लासिकल डांस वाली पोज की तस्वीर बना उन्हें याद किया और इसके चारों तरफ रंग- बिरंगे फूल बनाये. इस स्पेशल डूडल को आर्टिस्ट पार्वती पिल्लई ने डिजाइन किया है.

गूगल डूडल ब्लॉग में इसके बारे में लिखा गया, 'आइकोनिक भारतीय एक्ट्रेस और डांसर जोहरा सहगल पर आज का डूडल आर्टिस्ट पार्वती पिल्लई ने बनाया है. वह देश की पहली महिला एक्ट्रेस हैं जिन्हें अंतरराष्ट्रीय मंच पर पहचान मिली. जोहरा ने फिल्म 'नीचा नगर' में बहुत यादगार रोल किया था. यह फिल्म साल 1946 में कान्स फिल्म फेस्टिवल में दिखाई गई थी. इसे भारतीय सिनेमा की पहली इंटरनेशन क्रिटिकल सक्सेस मिली. 'नीचा नगर' को फेस्टिवल का सर्वोच्च सम्मान द पाल्मे डी ओर प्राइज मिला.' 

जोहरा का जन्म 27 अप्रैल, 1912 को उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में हुआ था. उनका पूरा नाम साहिबजादी जोहरा बेगम मुमताज उल्लाह खान था. 20 साल की उम्र में सहगल ने जर्मनी के ड्रेसडेन के एक प्रतिष्ठित स्कूल में बैले सीखा. बाद में उन्होंने भारतीय नृत्य क्षेत्र के महान शख्सियत उदय शंकर के साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दौरा किया. 1945 के वर्षों के बाद, सहगल इंडियन पीपुल्स थियेटर एसोसिएशन में शामिल हो गईं और अभिनय में जुट गईं. उनकी कुछ प्रसिद्ध फिल्मों में नीचा नगर शामिल है, जो 1946 में कान फिल्म समारोह में प्रदर्शित हुई थी. फिल्म ने महोत्सव का सर्वोच्च सम्मान, पाल्मे डी'ओर पुरस्कार जीता. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिलने के बाद वह 1962 में लंदन चली गईं और 'डॉक्टर व्हू' जैसे क्लासिल ब्रिटिश टीवी शो और 1984 मिनीसीरीज 'दी ज्वैल इन द क्राउन' में काम किया. जोहरा को 1998 में पद्मश्री, 2001 में कालीदास सम्मान और 2010 में पद्म विभुषण से सम्मानित किया गया.
10 जुलाई, 2014 को नई दिल्ली में सहगल का निधन हो गया.

Recommended

Loading...
Share