निर्देशक शेखर कपूर FTII के नए प्रेजिडेंट और गवर्निंग काउंसिल के चेयरमैन बनें 

By  
on  

हिंदी सिनेमा के सर्वश्रेष्ठ निर्देशकों में से एक शेखर कपूर को फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (FTII) सोसाइटी के अध्यक्ष और एफटीआईआई गवर्निंग काउंसिल के चेयरमैन के तौर नियुक्त किया गया है. शेखर कपूर ने बीपी सिंह की जगह ली है. कुछ दिन पहले ही बीपी सिंह को The Indian Council for Cultural Relations (ICCR) की जनरल असेम्बली के लिए नामित किया गया था. 

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सोशल मीडिया पर शेखर कपूर के चेयरमैन बनने की जानकारी देते हुए बताया कि 3 मार्च 2023 तक शेखर इस पद पर रहेंगे. उन्होंने लिखा, 'मिस्टर कपूर, जिनके पास बहुत अनुभव है, संस्थान में अधिक मूल्य जोड़ेंगे. मुझे यकीन है कि हर कोई उनकी नियुक्ति का स्वागत करेगा.'   

 

 

शेखर कपूर ने अपने करियर की शुरुआत 'मासूम' फिल्म से की थी. नसीरूद्दीन शाह, शबाना आज़मी, उर्मिला मातोंडकर और जुगल हंसराज ने इसमें मुख्य किरदार निभाये थे. शेखर कपूर की बेहतरीन फिल्मों में मासूम, बैंडिट क्वीन, मिस्टर इंडिया, एलिजाबेथ और  बैंडिट क्वीन जैसी शानदार फिल्में शामिल हैं. 

शेखर भारतीय सिनेमा के लेजेंड देवानंद की बहन के बेटे हैं. उनके पिता नहीं चाहते थे कि शेखर फ़िल्मों में काम करें. 1987 में शेखर ने अनिल कपूर और श्रीदेवी के साथ 'मिस्टर इंडिया' बनायी, जो हिंदी सिनेमा की पहली साइंस फिक्शन फ़िल्म मानी जाती है. उनकी फिल्म बैंडिट क्वीन ने उन्हें अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक पहुंचा दिया. फूलन देवी की इस बायोपिक की सराहना दुनियाभर में हुयी. 1998 में शेखर ने ब्रिटिश फ़िल्म एलिज़ाबेथ बनाकर इंटरनेशनल फ़िल्म इंडस्ट्री में क़दम रखा. कमल हासन की विश्वरूपम में वो एक अहम किरदार में नज़र आये थे. 

Recommended

Loading...
Share