महाराष्ट्र में थिएटर खुलने के बाद मराठा मंदिर में लौटीं शाहरुख़ खान और काजोल की आइकॉनिक फिल्म DDLJ

By  
on  

डेब्यूटेंट निर्देशक आदित्य चोपड़ा द्वारा लिखित शाहरुख़ खान और काजोल की फिल्म 'दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे' एक ऐसी फिल्म है जिसने भारत में रोमांस और पॉप कल्चर को आकार दिया है. सभी बॉक्स ऑफिस रिकॉर्ड्स तोड़ते हुए फिल्म ने छप्पर फाड् कमाई की थी और यह आज भी मुंबई के मराठा मंदिर में दिखाई जाती है. 

यह अब तक की सबसे लंबे समय तक चलने वाली हिंदी फिल्म बन है  जबकि मुंबई के मराठा मंदिर थिएटर में ऐतिहासिक 1,274 सप्ताह चलने के साथ मार्च में इसे कोरोना की वजह से टेम्पररिली रोक दिया गया था. अब, महाराष्ट्र में सिनेमाघरों को फिर से खोलने के साथ, डीडीएलजे फिर से प्यार फैलाने और इस त्योहारी सीजन को गर्म करने के लिए वापस आ गया है.
यशराज फिल्म्स के वाइस प्रेजिडेंट डिस्ट्रीब्यूशन रोहन मल्होत्रा का कहना है, 'चूंकि मुंबई में फिर से सिनेमाघर शुरू हो रहे है. 

यशराज फिल्म्स भारतीय सिनेमा के इतिहास में सबसे लंबे समय तक चलने वाली फिल्म लाने के लिए रोमांचित है, दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, मुंबई के मराठा मंदिर में सिल्वर स्क्रीन पर वापसी कर रहा है.'

डीडीएलजे, जो 4 करोड़ के बजट में बनाया गयी थी, 1995 में एक ब्लॉकबस्टर फिल्म साबित हुयी. फिल्म ने भारत में 89 करोड़ और विदेशी बाजारों में 13.50 करोड़ का कलेशों किया.  इस प्रकार, 1995 में दुनिया भर में कुल कलेक्शन 102.50 करोड़ रहा.  आज भारत में इसका कुल कलेक्शन 455 करोड़ और विदेशी प्रदेशों में 69 करोड़ है, जो कि दुनिया भर में कुल मिलाकर अभूतपूर्व 524 करोड़ है.

DDLJ के 25वें वर्ष के समारोह को चिह्नित करने के लिए फिल्म को दुनिया भर में फिर से रिलीज़ किया जाएगा. YRF ने जर्मनी, यूएई, सऊदी अरब, कतर, अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, मॉरीशस, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, फिजी, नॉर्वे, स्वीडन, स्पेन, स्विट्जरलैंड, एस्टोनिया और फिनलैंड में फिल्म खोलने की योजना बनाई है.

Recommended

Loading...
Share