काजोल ने बच्चों को हर समय प्यार करने की बात को बताया असंभव, कहा- '60% भी अगर मैनेज हो जाएं, तो बच्चों के साथ शानदार रिश्ता है'

By  
on  

काजोल एक ऐसी एक्ट्रेस हैं जिन्होंने अपने बच्चों को बड़ा करने के लिए इंडस्ट्री से एक लम्बा ब्रेक लिया था. उन्होंने अपनी लाइफ को हमेशा अपनी शर्तों पर जिया है और अपने पर्सनल और प्रोफेशनल कमिटमेंट्स के बीच अद्भुत संतुलन बनाने में कामयाब रही हैं. हाल ही में दिए अपने एक इंटरव्यू में, उन्होंने कहा कि मांओं को एक बॉक्स में डाल दिया जाता है और जब वह बॉक्स से बाहर कदम रखती हैं, तब उन्हें बड़ी आसानी से जज किया जाता है. काजोल, जिनके पति अजय देवगन से दो बच्चे बेटी न्यासा और बेटे युग हैं, का कहना है कि उनके मन में घर पर रहने वाली माताओं के लिए अत्यंत सम्मान है.

इंटरव्यू के दौरान, पदयात्रा के बारे में बात करते हुए, जिसपर समाज माताओं को स्थान देता है, काजोल कहती हैं, "अगर आप बच्चे के लिए खाना नहीं बनाती हैं, तो उसे स्कूल से लेने जाएं, अगर आप एक PTA मीटिंग में शामिल नहीं होती हैं तो आप बुरी मां हैं... इसलिए बहुत सी चीज़ें हैं जो आपको एक बुरी मां बनाती हैं और न कि आपको एक अच्छी मां बनाती हैं."

(यह भी पढ़ें: काजोल ने अपनी शादी के लेकर किया बड़ा खुलासा, बताया अजय देवगन के साथ रिश्ता जुड़ने को लेकर राजी नहीं थे पिता)

जब उनसे पूछा गया कि क्या एक मां को हर समय अपने बच्चों को प्यार करना चाहिए, तो उन्होंने कहा, "आप केवल माता-पिता से ही यह सवाल पूछ सकते हैं, क्योंकि यदि आप एक माता-पिता हैं तो आप समझ जाएंगे कि यह निश्चित रूप से सच नहीं है. आप निश्चित रूप से अपने बच्चों को हर समय प्यार नहीं करेंगे. अगर आप 60% भी मैनेज करते हैं, तो आपके बच्चों के साथ एक शानदार रिश्ता है. और वह 40% तब होता है, जब वह नखरे दिखाते हैं, जब आप नखरे दिखाते हैं... तो 60-65% अच्छा होता है."

वर्क फ्रंट पर, काजोल को आखिरी बार रेणुका शहाणे के निर्देशन वाली त्रिभंगा में देखा गया था, जिसने तीन पीढ़ियों में मां-बेटी के रिश्तें और उनकी अलग सोच को दिखाया गया है. फिल्म में तन्वी आज़मी और मिथिला पालकर ने भी काम किया है.

(Source: Pinkvilla)

Recommended

Loading...
Share