‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ को लेकर आलिया भट्ट और संजय लीला भंसाली की बढ़ी मुश्किलें, कोर्ट ने जारी किया समन

By  
on  

'गंगूबाई काठियावाड़ी' को लेकर फिल्ममेकर संजय लीला भंसाली और आलिया भट्ट की मुश्किलें कम नहीं हो रही है. दरअसल गंगूबाई के परिवार ने संजय लीला भंसाली और आलिया भट्ट के खिलाफ फिल्म के लिए बॉम्बे सिटी सिविल कोर्ट में मामला दायर किया है. वहीं अब फिल्म की लीड एक्ट्रेस आलिया भट्ट, निर्देशक संजय लीला भंसाली और फिल्म के राइटर को मुंबई की मझगांव कोर्ट ने समन जारी किया है. इन सभी से 21 मई को कोर्ट में पेश होने के लिए कहा गया है. 

याचिकाकर्ता (गंगूबाई काठियावाड़ी का बेटा) ने आरोप लगाया है कि फिल्म 'गंगूबाई काठियावाड़ी' में उनके परिवार की बदनामी हो रही है. उन्होंने यह भी कहा है कि यह फिल्म सत्य नहीं है, बल्कि झूठे तथ्यों पर आधारित है. गंगूबाई काठियावाड़ी के बेटे के अनुसार फिल्म में गलत तथ्य दिखाए गए हैं. इससे पहले फिल्म के नाम को बदलने की मांग उठी थी. हाल ही में महाराष्ट्र कांग्रेस के विधायक अमीन पटेल ने फिल्म 'गंगूबाई काठियावाड़ी' का नाम बदलने की मांग की थी. उनका कहना थी कि इससे काठियावाड़ शहर की छवि खराब होगी.

कांग्रेस विधायक अमीन पटेल ने 'गंगूबाई काठियावाड़ी' के टाइटल को लेकर जताई आपत्ति क्योंकि फिल्म का नाम 'काठियावाड़ शहर के नाम को बदनाम करता है'

(Credit: Nishant Shamsi) 


दरअसल संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित आलिया भट्ट स्टारर गंगूबाई काठियावाड़ी का टीजर हाल ही में रिलीज हुआ है. ऐसे में कहा जा रहा है कि यहां के लोगों का मानना है कि फिल्म के जरिए कमाठीपुरा के 200 साल के वास्तविक इतिहास को खराब करने का प्रयास किया जा रहा है. लोगों का कहना है कि यह अपमानजनक, शर्मनाक है और कमाठीपुरा के निवासियों की भावनाओं को आहत करने वाला है. कमाठीपुरा के लोगों ने सामाजिक कलंक को मिटाने के लिए कड़ी मेहनत की है और यह फिल्म कमाठीपुरा की वर्तमान और भावी पीढ़ियों के लिए बेहद हानिकारक है.ऐसे में अब यहां के लोग फिल्म के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे और इस पर रोक लगाने की भी मांग कर सकते हैं.


बता दें कि, हुसैन जैदी की किताब 'माफिया क्वीन्स ऑफ मुंबई' पर आधारित इस फिल्म में डॉन गंगूबाई की कहानी दिखाई जाएगी. गंगूबाई 60 के दशक में मुंबई माफिया का बड़ा नाम थीं. बताया जाता है कि उन्हें पति ने महज पांच सौ रुपए के लिए बेच दिया था. इसके बाद से ही वे वेश्यावृत्ति में लिप्त हो गईं थीं. इसके बाद उन्होंने कड़ी मेहनत की और मजबूर लड़कियों के लिए भी बहुत काम किए. ये फिल्म 30 जुलाई, 2021 को सिनेमाघरों में रिलीज होगी.
(Source: India Today)

Recommended

Loading...
Share