Lata Mangeshkar के जल्दी ठीक होने के लिए दो दिन से अयोध्या में किया जा रहा है महामृत्युंजय जाप, परिवार रोज-रोज उनकी हेल्थ अपडेट देना मुमकिन नहीं

By  
on  

सुर कोकिला लता मंगेशकर कोरोना से संक्रमित होने के बाद बीते कई दिनों से मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती हैं। लता की उम्र को देखते हुए डॉक्टरों ने उन्हें ICU में रखा हुआ है। इस बीच लता मंगेशकर का परिवार और डॉक्टर लगातार उनकी हेल्थ को लेकर अपडेट दे रहे हैं। अब हाल ही में लता मंगेशकर की रिश्तेदार रचना ने कहा है कि रोज-रोज दीदी की हेल्थ अपडेट देना परिवार के लिए मुश्किल हो रहा है। 

रचना का कहना है कि लता जी की हेल्थ को लेकर फैमिली के तरफ से कल यानी 28 जनवरी को अपडेट किया जाएगा। रचना ने कहा कि हर रोज अपडेट देना कठिन है। इसलिए हम कल दीदी की हेल्थ अपडेट देंगे। 92 साल की लता मंगेशकर को कोरोना और निमोनिया के कारण 8 जनवरी को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। फैंस भी उनके जल्द ठीक होकर घर वापस लौटने के लिए दुआएं कर रहे हैं।

17 दिनों से अस्पताल में 
वहीँ लीजेंड्री सिंगर Lata Mangeshkar पिछले 17 दिनों से तबीयत खराब होने के चलते मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती हैं। उनकी सेहत को लेकर चिंता का माहौल है लेकिन राहत की बात यह है कि इलाज काम कर रहा हैं। उनकी हालत में हल्का सुधार है। देशभर में उनके जल्द स्वस्थ होकर घर लौटने के लिए दुआएं हो रही हैं और अयोध्या में तो संतों ने पूजा शुरू कर दी है। 

 

अयोध्या में महामृत्युंजय जाप
हाल ही में अयोध्या मे लता मंगेशकर के लिए महामृत्युंजय जाप और हवन किया गया है।  मंगेशकर के लिए आयोजित पवित्र अनुष्ठान में शामिल जगद्गुरु परमहंस आचार्य महाराज का कहना है कि वह यह भी चाहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 93 वर्षीय सिंगर से मिलने के लिए जाएं, जो इस समय आईसीयू में हैं। 

जगद्गुरु परमहंस आचार्य महाराज ने कहा, "हमने गायिका लता मंगेशकर के बेहतर स्वास्थ्य के लिए महामृत्युंजय जाप किया है। मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से उनसे मिलने का अनुरोध करुंगा."

बता दें कि लता मंगेशकर कुछ दिन पहले ही हल्के लक्षणों के साथ कोरोना पॉजिटिव मिली थीं. इसके अलावा उन्हें निमोनिया की शिकायत भी थी। उन्हें 8 जनवरी को दक्षिण मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल के ICU में भर्ती कराया गया था। मंगेशकर परिवार ने गायिका के ऑफीशियल ट्विटर अकाउंट से एक बार फिर लोगों से अपील की थी कि वे लता मंगेशकर की सेहत को लेकर अफवाहें फैलाने से बचें। 

Recommended

Loading...
Share