एक्टर नकुल मेहता के बाद किश्वर मर्चेंट का चार महीने का बेटा भी कोरोना के चपेट में आया, परेशान माँ ने लिखा भवुक पोस्ट

By  
on  

 

टीवी एक्टर नकुल मेहता और उनकी पत्नी जानकी पारेख पिछले कुछ दिनों से काफी परेशानी का सामना कर रहे थे।  उनके 11 महीने के बेटे सूफी को कोरोना वायरस ने अपनी चपेट में ले लिया था। सूफी की हालत इतनी खराब हो गई थी कि उसे अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ गया था। अब ऐसी ही परेशानी से एक्ट्रेस किश्वर मर्चेंट को भी गुज़ारना पड़ रहा है। वो बेहद परेशान हैं जिसके बाद उन्होंने इसकी जानकारी साझा की है। किश्वर मर्चेंट ने बताया है की अब उनका चार महीने का बेटा भी इस वायरस की चपेट में आ गए हैं। किश्वर ने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर करके इस बात की जानकारी दी है।

किश्वर के बेटे की उम्र अभी महज चार महीने ही है। ऐक्ट्रेस ने अपने इंस्टाग्राम पर इसकी जानकारी देते हुए बताया था कि किस तरह से वह और उनके पति सुय्यश राय उसकी देखभाल कर रहे हैं।

दरअसल किश्वर ने ये जानकारी इंस्टाग्राम पर अपनी डेटिंग एनिवर्सरी पर पति सुय्यश राय के लिए लिखे गए एक पोस्ट के साथ दी, किश्वर ने अपने पोस्ट में लिखा है की कैसे सुय्यश इस मुश्किल घड़ी में वह उनके कितने बड़े सपोर्ट बनकर सामने आए हैं। उनका साथ दे रहे हैं। 

 

किश्वर ने इंस्टाग्राम पर लिखे पोस्ट में कहा है की  'मैं इस लड़के को आज 11 साल से जानती हूं और यह काफी बदल गया है। यह बहुत मैच्योर हो गया है। समझदार हो गया है। जिम्मेदार और प्यार करने वाला बन गया है। पांच दिन पहले निर्वैर की नैनी (आया) को कोरोना हो गया था। और उसके बाद जो हुआ, वह किसी आपदा से कम नहीं था। हमारी हाउसहेल्प को कोरोना हुआ और वह क्वॉरंटीन हो गई। फिर हमारे साथ रह रहा सुय्यश का पार्टनर सिड भी संक्रमित हो गया। और इसके बाद जो हुआ, वह सबसे बुरा था।'

ऐक्ट्रेस आगे बताती हैं, 'निर्वैर भी कोरोना की चपेट में आ गया। इसके बाद हम दो के अलावा न तो कोई खाना बनाने वाला था और न साफ-सफाई करने वाला। इतना ही नहीं निर्वैर की मदद करने वाला भी कोई नहीं था, जब वह दर्द से कराह रहा था। सुय्यश सबसे बेस्ट पार्टन है, जो मुझे मिला। उसी की बदौलत हमने अपने इस बुरे समय को भी अच्छे से पार कर लिया। उसने मेरी हर चीज में मदद की। उसने संगीता और सिड के लिए नाश्ता बनाकर मेरी पीठ की मालिश भी की। मेरे आंसू पोंछे। मेरे साथ खड़ा रहा। खुद निर्वैर की देखभाल करने तक उसने मुझे रेस्ट करने दिया। जब पर रोने लगे तो उसको एंटरटेन करता। उसे सुलाता और उसी समय बर्तन भी धुलता। साथ ही बटुक और पाल्बो की भी देखभाल करता। वह आज जो है और जो बन चुका है, उस पर मुझे नाज है। खुशी है कि मैं आज 11 साल पहले तुमसे मिली और तुमसे ही शादी की। बस एक बात कहना है, ज्यादा नाश्ता करना बंद कर दो। निर्वैर और तुमसे मैं बहुत प्यार करती हूं।'

Recommended

Loading...
Share