फिल्म 'पद्मावती' के विरोध में करणी सेना ने मचाई तबाही, की बेतहाशा तोड़-फोड़ 

By  
on  

फिल्म पद्मावती की रिलीज़ में चाहे जितने भी रोड़े क्यों न अटकाए जा रहे हों, लेकिन फिर भी संजय लीला भंसाली ने फिल्म को लेकर अपनी आस नहीं छोड़ी है. इतनी मुसीबतों के बाद भी फिल्म के प्रमोशन में किसी भी तरह की ढिलाई नहीं देखी जा रही है. लेकिन दूसरी ओर करणी सेना है कि फिल्म का पीछा ही नहीं छोड़ रही. हाल ही में इस फिल्म के गाने घूमर को लेकर हिन्दू जनजागृति समिति ने पद्मावती के निर्माता के खिलाफ एक नोटिस भेजा था,  जिसमें संजय लीला भंसाली से माफीनामे के साथ गाने घूमर को हटाने की मांग की थी.
वहीं राजस्थान के कोटा में आकाश मॉल में बने थियेटर में फिल्म के ट्रेलर को दिखाए जाने के बाद करणी सेना ने जमकर तबाही मचा डाली. इस घटना का एक वीडियो हाल ही में सोशल मीडिया पर पोस्ट किया गया है, जिसमें करणी सेना के सदस्य इस मॉल में तोड़-फोड़ मचाते हुए गाली गलौच कर रहे हैं. ये तो पहले से साफ़ दिखाई दे रहा था कि संजय लीला भंसाली की पद्मावती को राजस्थान में रिलीज़ मिल पाना मुश्किल है, जिसका एक छोटा सा उदाहरण इस वीडियो में साफ़ देखा जा सकता है.

https://twitter.com/ANI/status/930399057935196160

हिन्दू जनजागृति समिति के नोटिस में भी उनके प्रवक्ता ने संजय लीला भंसाली पर कई आरोप लगाए थे, जिसमें उन्होंने कहा था कि  'रानी पद्मावती ने जौहर अपने स्वाभिमान की रक्षा के लिए किया था, तो ऐसी बहादुर रानी लोगों के सामने इस तरह से क्यों नाचेगी? जैसा कि सभी जानते हैं राजस्थानी समाज में एक ऐसा समाज है, जो घूमर करता है. अगर इतिहास को खंगाल कर देख लिया जाए, तो और राजकुमारी इस तरह लोगों के सामने घूमर नहीं करेगी.'
उन्होंने ये भी कहा कि 'बाजीराव-मस्तानी में भी भंसाली ने काशीबाई को लोगों के सामने नाचते हुए दिखाया था, जो अपने आप में स्वीकार्य नहीं है. रानी पद्मावती ऐसी महारानी थीं, जो समय आने पर तलवार उठाना जानती थी और उस तलवार की नोक पर  नचवा सकती थीं. ऐसी स्वभिमानी और शक्तिशाली रानी को बड़े पर्दे पर इस रूप में देखना हमारे लिए असहाय है.'

Recommended

Loading...
Share