रेप केस के बाद पर्ल वी पुरी को ज्यूडिशियल कस्टडी में भेजा गया, सोमवार को होगी मामले पर सुनवाई

By  
on  

मुंबई के वालिव पुलिस ने नागिन 3 फेम टीवी एक्टर पर्ल वी पुरी के खिलाफ रेप का मामला दर्ज किया था. पुलिस ने 4 जून को देर रात गिरफ्तार किया गया था. वहीं अब नाबालिग से रेप के आरोपो के बाद पर्ल वी पुरी को महाराष्ट्र पुलिस मेडिकल जांच के लिए भेज दिया है. वहीं अब मामले पर लेटेस्ट अपडेट ये है कि आरोपी को वसई  कोर्ट ने ज्यूडिशियल कस्टडी में भेज दिया है, मतलब की अभी दो रातों को लिए पर्ल वी पुरी को जेल में रहना होगा. रेप केस में सोमवार को  वसई न्यायालय में सुनवाई होगा. 

मालूम हो कि पर्ल वी पुरी पर को-स्टार की 11 साल की नाबालिग बेटी से रेप और और छेड़छाड़ के आरोप लगे हैं. पीड़िता के पिता ने वालीव पुलिस में FIR दर्ज कराई है. रेप और मोलेस्टेशन पर वालीव पुलिस ने  CR IPC 376 AB, r/w POCSO Act 4, 8, 12,19, 21के तहत केस दर्ज किया है और आरोपी को तत्काल गिरफ्तार कर लिया था. 

एकता कपूर, अनीता हसनंदानी से लेकर इन टीवी एक्टर्स ने किया पर्ल वी पुरी का सपोर्ट, रेप के आरोपो को बताया निराधार

 

वहीं बता दें कि, सूत्रों से हमें पता लगा है कि, 'कुछ दिनों पहले, पर्ल की को-स्टार अपनी 11 साल की बेटी और पति के साथ शो के सेट पर गई थी. एक्ट्रेस की बेटी पर्ल के साथ एक सेल्फी लेना चाहती थी इसलिए वह एक तस्वीर के लिए पर्ल के पास गई और पर्ल से फोटो के लिए रिक्वेस्ट की. जिसके बाद पर्ल छोटी लड़की को अपनी वैनिटी वैन में ले गया. उसके बाद एक्टर ने वैनिटी वैन में उसके साथ छेड़छाड़ की और बलात्कार किया. घर लौटने के बाद, बच्ची ने न तो कुछ खाया और न ही किसी से बात की. जब उसके पैरेंट्स ने बार बार अपनी बेटी से पूछा कि क्या गलत हुआ, तो बच्ची ने अपने पिता को सब कुछ बता दिया. सबसे पहले, बच्ची की मां जो पर्ल की को-स्टार थीं उन्होने कहा कि, 'यह सच नहीं हो सकता क्योंकि वह एक बड़ा सितारा है.' लेकिन उसके बाद मेडिकल रिपोर्ट्स से कंफर्म हो गया कि छोटी बच्ची के साथ रेप किया किया गया था. मेडिकल जांच के बाद, माता-पिता ने वालिव पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कराया. इसके तुरंत बाद, पुलिस ने पर्ल को उसके दोस्त के घर अमोबिली से गिरफ्तार कर लिया. '

वहीं बता दें कि, पोक्सो एक्ट 2012 में लागू किया गया था. इसमें बच्चों के खिलाफ बढ़ते अपराधों की जांच करने और अपराध में लिप्त पाए जाने के बाद उम्रकैद और मौत की सजा का प्रावधान किया गया है. 

 

Recommended

Loading...
Share