#MeToo: विनता नंदा ने आलोक नाथ पर मुंबई कोर्ट के फैसले पर उठाया सवाल

By  
on  

विनता नंदा ने अभिनेता आलोक नाथ को बलात्कार के मामले में अदालत द्वारा दी गई गिरफ्तारी से पहले जमानत पर सवाल उठाया है. अदालत ने इस आधार पर जमानत दी है कि अनुभवी अभिनेता को मामले में गलत तरीके से फंसाया जा सकता है. एक जानेमाने अखबार को दिए इंटरव्यू में नंदा ने कहा है कि वह न्यायालय के फैसले का सम्मान करती है लेकिन कहा कि सभी अपराधियों की तरह नाथ ने भी अपने खिलाफ आरोपों से इनकार किया है.

नंदा ने यहां तक कहा कि अग्रिम जमानत के लिए अपने आवेदन में, नाथ ने झूठी और असत्य कहानियों के साथ अदालत को गुमराह करने की कोशिश की है. उन्होंने इस तथ्य की ओर भी ध्यान आकर्षित किया कि हर कोई जो उन्हें जानता था वह व्यक्तिगत रूप से सच्चाई जानता है और मामले के तथ्यों को नहीं बदला जा सकता. उन्होंने यह भी कहा कि अदालत में पड़े इस मामले की हकीकत उनका परिवार और CINTAA को पता है. विनता ने #MeToo आंदोलन के मद्देनजर पिछले साल आरोप लगाया था कि आलोक ने 19 साल पहले उनके साथ बलात्कार किया था.

विनता ने कहा कि आलोक को CINTAA ने न केवल उनकी ऐसी हरकतों के कारण निष्कासित कर दिया था. आगे उन्होंने संध्या मृदुल, नवनीत निशान, हिमानी शिवपुरी और दीपिका अमीन का नाम लिया, जिनके साथ सेट पर आलोक ने गलत हरकत की थी. उन्होंने सवाल किया कि क्या वे भी अभिनेता के बारे में झूठ बोल रही थीं.

Recommended

Share