कोरोना के कहर से दांव पर फिल्म इंडस्ट्री के 800 करोड़, देश के अधिकतर सिनेमाघर में पड़ा इसका असर

By  
on  

शुक्रवार से सिनेमाघरों के बंद होने का जो सिलसिला चला वो रविवार तक आते आते देश के आधे सिनेमाघरों के बंद होने पर भी खत्म नहीं हुआ. लगभग हर बड़े राज्य ने कोराना की इमरजेंसी को देखते हुए थियेटर्स को बंद करने का फैसला लिया. 3500 से ज्यादा स्क्रीन्स इससे प्रभावित हुईं. मुंबई, दिल्ली, गुजरात, राजस्थान, बिहार और पंजाब जैसे बड़े फिल्म मार्केट इसमें शामिल रहे. नतीजा ये रहा कि शानदार कलेक्शन कर रही बागी-3 हो या फिर हालिया रिलीज अंग्रेजी मीडियम दोनों के कलेक्शन में जबरदस्त गिरावट आई. एक लीडिंग वेबसाइट से बातचीत में फिल्म बागी-3 के डायरेक्टर अहमद खान ने कहा कि  'बहुत बुरा लगता है जब ऐसा कुछ घटता है वरना मेरी फिल्म का कलेक्शन कमाल का  होता.' 

फेमस ट्रेड एक्सपर्ट कोमल नाहटा ने माना है कि बागी-3 को कमाई के मामले में भले ही अच्छा रिस्पॉन्स मिला हो लेकिन बावजूद इसके फिल्म को 25-30 करोड़ का नुकसान हुआ है. एक अनुमान के मुताबिक आने वाले वक्त में जिस तरह की बड़ी रिलीज फिल्मों को टाला गया है उस हिसाब से इंडस्ट्री को 800 करोड़ का नुकसान हो सकता है.

Recommded Read:कोरोना वायरस के खौफ के बीच भी जारी रहेगी सलमान खान की फिल्म 'राधे' की शूटिंग, तो रणबीर कपूर स्टारर 'ब्रह्मास्त्र' और शाहिद कपूर स्टारर 'जर्सी' की शूटिंग टली

पिछले हफ्ते रणबीर कपूर, आलिया भट्ट और अमिताभ बच्चन स्टारर ब्रह्मास्त्र की शूटिंग कोरोना वायरस के कारण रद्द कर दी गई. ये फिल्म इसी साल 4 दिसंबर को रिलीज की तैयारी में थी मगर अब लगता है कि ब्रह्मास्त्र की रिलीज आगे बढ़ाई जाएगी. शाहिद कपूर स्टारर जर्सी की भी शूटिंग रद्द करनी पड़ी और फिल्म की पूरी टीम को रातों रात चंडीगढ़ से मुंबई लौटना पड़ा. शिल्पा शेट्टू, शर्ली सेतिया और अभिमन्यू दासानी स्टारर निकम्मा को भी बगैर कोई नई तारीख बताए पोस्टपोन कर दिया गया है तो आमिर खान स्टारर लाल सिंह चढ्ढा की शूटिंग भी बंद कर दी गई है। बड़ी फिल्मों की बात करें तो  एक तरफ जहां रिलीज के लिए रोहित शेट्टी की सबसे बड़ी फिल्मों में शामिल सूर्यवंशी तय वक्त पर रिलीज नहीं हो पायेगी तो दूसरी तरफ 1993 वर्ल्ड कप पर बनी कबीर खान की 83 का ट्रेलर लॉन्च जो कि 11 मार्च को होने वाला था टालना पड़ा ऐसे में फिल्मों का पूरा कैलेंडर गड़बड़ा गया है और 83 के भी 10 अप्रैल की रिलीज पर सस्पेंस बना हुआ है.

सबसे बड़ी मार तो शूटिंग इंडस्ट्री पर पड़ी है, फिल्मों की शूटिंग को 31 मार्च तक लिए बंद करने का फैसला किया गया है. फिल्मों का लागत से लेकर सिनेमाघरों के रोज के खर्चे तक सभी प्रभावित हुए हैं। इस बीच शूटिंग रद्द होने से स्पॉटबॉय, मेकअप आर्टिस्ट, लाइटमैन और प्रोडक्शन से जुड़े कई लोग और साथ ही जूनियर आर्टिस्ट जैसे सभी छोटे बड़े काम करने वालों पर असर पड़ेगा क्योंकि इन्हे हर दिन के हिसाब से पैसा मिलता है. ऐसे में सभी यही चाहते हैं कि कोरोना इफेक्ट जल्द से जल्द खत्म हो और सभी की जिंदगी पटरी पर लौटे.

 

(Source: Mumbai Mirror)

Recommended

Loading...
Share