शाहरुख खान का खार ऑफिस अब बना ICU, कोरोना वायरस से जूझ रहे गंभीर मरीजों का होगा इलाज

By  
on  

कोरोना वायरस के बीच शाहरुख खान और गौरी खान ने अपने ऑफिस को आज से कुल अप्रैल के महीने में बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) को एक क्वारंटाइन सेंटर में बदलने के लिए दिया था. हालांकि, शाहरुख के मीर फाउंडेशन को समर्पित इस ऑफिस को डॉक्टरों और चिकित्सा कर्मचारियों की कमी के कारण मई के अंत में टेक ओवर किया गया. महीनों बाद, BMC ने अब क्वारंटाइन सेंटर को एक सुसज्जित 15-बेड वाले ICU में बदल दिया है, जो हिंदुजा अस्पताल द्वारा संचालित है. इसपर काम 15 जुलाई को शुरू किया गया था और आइसोलेशन में रखे गए रोगियों को एक अलग सेंटर्स में भेज दिया गया था.

इसी बारे में बात करते हुए हिंदुजा अस्पताल के कार्यकारी निदेशक-डॉ. अविनाश सुपे ने एक जाने माने अखबार को बताया है कि महामारी के दौरान अधिक आईसीयू बेड की आवश्यकता होती है. उन्होंने कहा कि जगह को अच्छी तरह से वेंटिलेटर और ऑक्सीजन टैंक से सुसज्जित कर दिया गया है. डॉ. सुपे ने बताया कि सेंट्रल ऑक्सीजन फैसिलिटी के साथ छह बेड पहली मंजिल पर और पांच आईसीयू बेड और चार स्टैंडबाय बेड दूसरी मंजिल पर हैं. सभी सर्विस बीएमसी के मार्गदर्शन में हिंदुजा अस्पताल द्वारा संचालित की जाएगी.

(यह भी पढ़ें: PeepingMoon Exclusive: यशराज फिल्म्स की 50वीं सालगिरह पर एक्शन फिल्म 'पठान' के साथ वापसी करेंगे शाहरुख खान)

वहीं, एच-वेस्ट वार्ड के सहायक नगर आयुक्त विनायक विस्पुते ने एक जाने माने अखबार को बताया है शाहरुख का ऑफिस 'वार्ड के नागरिकों के लिए वैकल्पिक अस्पताल' की तरह है. उन्होंने आगे बताया कि हिंदुजा अस्पताल 24 * 7 रेजिडेंट डॉक्टर, पारामेडिकल और नर्सिंग स्टाफ उपलब्ध कराएगा, जबकि शाहरुख की मीर फाउंडेशन सुरक्षा, हाउसकीपिंग, वाटरप्रूफिंग, बेड और खाने की व्यवस्था करेगी.

कथित तौर पर, क्वारंटाइन सेंटर में 66 रोगी थे. जिसमे से 54 को ठीक होने के बाद घर भेज दिए गए हैं. जबकि 12 मरीजों को जगह को अपग्रेड करने के लिए शिफ्ट करना पड़ा.

(Source: Mumbai Mirror)

Recommended

Loading...
Share