'करण जौहर की 2019 हाउस पार्टी का वीडियो नहीं है NCB के जांच का हिस्सा', डीजी मुथा अशोक जैन ने किया स्पष्ट

By  
on  

करण जौहर ने 2019 में बॉलीवुड सेलेब्स के साथ पार्टी होस्ट की थी. हालांकि, फिल्ममेकर और उनके मेहमानों द्वारा पार्टी में किसी भी तरह के ड्रग्स और अवैध पदार्थ का सेवन नहीं किये जाने की बात कही गयी है, लेकिन इसके बावजूद एसएडी नेता मनजिंदर सिंह सिरसा हमेशा जांच की मांग करते रहे हैं. इस मामले पर गरिमापूर्ण चुप्पी बनाए रखने के बाद, करण ने शुक्रवार को सोशल मीडिया पर एक बयान जारी किया और कहा कि उन्हें झूठे आरोप लगाने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का विचार करना होगा.

अफवाह यह थी कि 2019 का वीडियो जो करण ने अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर पोस्ट किया था, उसकी जांच नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा की जाएगी। हालांकि, एनसीबी के महानिदेशक, मुथा अशोक जैन ने हवा को साफ करते हुए कहा कि बॉलीवुड ड्रग्स की जांच करण की पार्टी से संबंधित नहीं है. उन्होंने स्पष्ट किया कि अनावश्यक विवाद में खींचे जा रहे वीडियो की जांच नहीं की जा रही है.

(यह भी पढ़ें: करण जौहर ने मीडिया हाउस के खिलाफ ड्रग नेक्सस में नाम लेने पर जारी किया स्टेटमेंट, कहा- 'झूठे आरोप पर लूंगा एक्शन')

नीचे देखें करण द्वारा जारी किया गया स्टेटमेंट:

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Karan Johar (@karanjohar) on

करण जौहर ने जारी किए गए अपने स्टेटमेंट में कहा है, "कुछ न्यूज़ चैनल प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स, यह गलत खबर फैला रही हैं कि मैं यानी करण जौहर के घर पर 28 जुलाई 2019 को हुई पार्टी में नारकोटिक्स का सेवन किया गया था. मैंने पहले ही साल 2019 में यह साफ कर दिया गया था कि लगाए गए सभी अंजाम गलत और झूठे हैं. फिलहाल चल रहे दुर्भाग्यपूर्ण कैंपेन के मद्देनजर मैं यह दोहरा रहा हूं कि आरोप पूरी तरह से निराधार और झूठे हैं.  किसी भी तरह के नारकोटिक्स सबटेन्स का पार्टी में सेवन नहीं किया गया था. मैं एक बार फिर से साफ कर देना चाहता हूं कि मैं किसी तरह के नारकोटिक्स का सेवन नहीं करता और ना ही प्रमोद और इन चीजों का सेवन करने के लिए बढ़ावा देता हूं. इन सभी अपशब्दों और दुर्भावनापूर्ण बयानों, न्यूज़ आर्टिकलशो और न्यूज़ क्लिपिंग ने मुझे, मेरे परिवार और मेरे सहयोगियों और धर्म प्रोडक्शंस को अनावश्यक रूप से घृणा, अवमानना और उपहास के अधीन कर दिया है."

उन्होंने आगे लिखा है, "मैं आगे बताना चाहूंगा कि कई मीडिया / न्यूज़ चैनल न्यूज़ रिपोर्टों को प्रसारित कर रहे हैं कि क्षितिज प्रसाद और अनुभव चोपड़ा मेरे "सहयोगी" / "करीबी सहयोगी" हैं. तो मैं यह साफ़ कर देना चाहता हूं कि मैं इन व्यक्तियों को व्यक्तिगत रूप से नहीं जानता और इन दोनों व्यक्तियों में से कोई भी "सहायक" या "करीबी सहयोगी" नहीं है. ना मैंने और ना ही धर्मा प्रोडक्शंस उन लोगों के लिए रेस्पोंसिबल नहीं है कि वो लोग अपनी पर्सनल लाइफ में क्या करते हैं. इनके आरोप धर्मा प्रोडक्शंस से सम्बंधित नहीं हैं. मैं आगे यह बताना चाहता हूं कि मिस्टर अनुभव चोपड़ा धर्मा प्रोडक्शन के कर्मचारी नहीं हैं. वह नवंबर 2011 और जनवरी 2012 के बीच और जनवरी 2013 में शॉर्ट फिल्म के असिस्टेंट डायरेक्टर के रूप में एक फिल्म के लिए केवल दो महीने हमारे साथ जुड़े थे. उसके बाद वह कभी भी धर्मा प्रोडक्शंस के साथ जुड़े नहीं किसी दूसरे प्रोजेक्ट में. मिस्टर क्षितिज रवि प्रसाद ने नवंबर 2019 में एक प्रोजेक्ट के लिए कॉन्ट्रैक्ट के आधार पर एग्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर के रूप में नवंबर 2019 में धर्माटिक एंटरटेनमेंट (धर्मा प्रोडक्शंस की सिस्टर कंसर्न) में शामिल हुए थे, जो कभी बन नहीं पाया."

अपना पक्ष रखने के बाद आखिर में करण ने लिखा है, "हालांकि, पिछले कुछ दिनों में, मीडिया ने अरुचिकर, विकृत और झूठे आरोपों का सहारा लिया है. मुझे उम्मीद है कि मीडिया के सदस्य संयम बरतेंगे अन्यथा मेरे पास इस आधारहीन हमले के खिलाफ कानूनी रूप से अपने अधिकारों की रक्षा करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा." 

(Source: Times Now/Viral Bhyani)

Recommended

Loading...
Share