बॉबी देओल और ट्विंकल खन्ना की डेब्यू फिल्म 'बरसात' के 25 साल हुए पूरे, एक्टर्स ने शूट के पहले दिन से लेकर रिलीज तक के किस्से किए शेयर

By  
on  

राजकुमार संतोषी की फिल्म ‘बरसात’ 6 अक्टूबर 1995 को रिलीज हुई थी. फिल्म को रिलीज हुए 25 साल हो गए है. साथ ही बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर धर्मेंद्र के बेटे बॉबी देओल और डिंपल कपाड़िया-राजेश खन्ना की बेटी ट्विंकल खन्ना के करियर को भी 25 साल पूरे हो गए है. दोनों ही स्टार किड्स ने एक्टर के तौर पर फिल्म इंडस्ट्री में धमाकेदार एंट्री मारी थी. धर्मेंद्र और सनी देओल के होम बैनर विजयता फिल्म्स द्वारा निर्मित और राजकुमार संतोषी द्वारा निर्देशित ये फिल्म एक लव स्टोरी थी. जिसे दर्शकों ने काफी पसंद किया था. फिल्म के लिए बॉबी और ट्विंकल दोनों को फिल्मफेयर बेस्ट डेब्यू अवार्ड भी मिला था. वहीं अपनी पहली फिल्म के 25 साल पूरा होने पर बॉबी देओल और ट्विंकल खन्ना ने शूट के पहले दिन से लेकर रिलीज तक के किस्से शेयर किए है. 

‘बरसात’ के 25 साल पूरे होने पर बॉबी देओल ने कहा कि, 'बरसात में मेरी शुरुआत के बाद से यह एक शानदार अद्भुत यात्रा रही है. जब फिल्म रिलीज हुई थी, तो सभी ने फिल्म को काफी पसंद किया था. मुझे याद है कि हम फिल्म रिलीज से पहले काफी घबराए हुए थे, लेकिन मेरे पापा और मेरे भाई हर समय मेरे साथ थे. मैं उनके बिना अपनी लाइफ में इस मुकाम तक नहीं पहुंच पाता. बरसात मेरे और ट्विंकल के लिए एक नई शुरूआत थी. 25 सालों बाद भी ये कल की बात लगती हैं. मैंने इन सालों में अपनी सफलताओं और अपनी असफलताओं से बहुत कुछ सीखा है और मैं अगले 25 सालों के भी भी बहुत उत्साहित हूं.'

Recommended Read: बॉबी देओल ने बताया कैसा है पिता धर्मेंद्र के साथ उनका रिश्ता, कहा- 'आज भी लगता है पापा की डांट से डर'


वहीं अपनी डेब्यू फिल्म 'बरसात' के 25 साल पूरा होने पर ट्विंकल खन्ना ने सेट से जुड़ी अपनी यादें शेयर करते हुए कहा कि, 'मुझे याद है कि मैं शूट के पहले दिन बहुत घबरा गई थी. मैं हमेशा एक टॉमबॉय की तरह ही रही थी. 'बरसात' के लिए मेरा ऑडिशन शायद पहली बार था जब मैंने पहली बार  लिपस्टिक लगाई थी. वहीं शूट के दौरान बॉबी कभी-कभी वह मेरे पैर पर स्टैम्प भी लगा देते थे. कभी-कभी मैं नाचते हुए उन्हे पैर से मार देती थी. सही कहूं तो हम दोनों उस वक्त बच्चे जैसे ही थे. जिस दिन फिल्म रिलीज हुई, प्रीमियर के लिए जाते समय ड्राइव के दौरान हम दोनों ने पूरे रास्ते हाथ पकड़े रहे. हम दोनों बहुत डरे हुए थे और तब तक हम अच्छे दोस्त बन चुके थे. और आज भी ये बातें कल की तरह महसूस होती है. कभी-कभी बॉबी और मैं एक दूसरे को पुरानी तस्वीरें भेजते हैं. मैं हमेशा पुराने पलों को सोचकर हैरान हो जाती हूं कि समय कैसे बीत गया. हमारे अब बच्चे हैं जो उतने ही बड़े है जितने हम उस वक्त 'बरसात' में काम करने के दौरान थे

वहीं फिल्म के बारे में याद करते हुए डायरेक्टर राजकुमार संतोषी ने कहा, 'मैं हमेशा से बरसात पर काम करना चाहता था. मैं बॉबी की लॉन्चिंग का हिस्सा बनना चाहता था, लेकिन पहले शेखर इसे डायरेक्ट कर रहे थे, इसलिए मैंने कभी भी फिल्म को डायरेक्ट करने की इच्छा जाहिर नहीं कि. लेकिन हां जब शेखर के अपने कुछ और दिए कमिंटमेंट्स इस फिल्म के आड़े आए तो मुझे इस फिल्म को डायरेक्ट करने की पेशकश की गई. फिर मैं इस फिल्म से जुड़ा. फिर हमने स्क्रिप्ट पर फिर से काम करना शुरू किया, फिल्म कई बदलावों से गुजरी. मैं केवल इतना कह सकता हूं कि मुझे खुशी है कि मैं इस प्रोजेक्ट का हिस्सा था.'
 

Recommended

Loading...
Share