फिल्ममेकर राम गोपाल वर्मा को कर्मचारियों को 1.25 करोड़ रुपये नहीं देना पड़ा महंगा, फेडरेशन ने किया बैन

By  
on  

फिल्ममेकर राम गोपाल वर्मा को फेडरेशन ऑफ वेस्ट इंडियन सिने एम्प्लॉइज ने आजीवन प्रतिबंधित कर दिया है, जिसमें 32 यूनियनों का समावेश है. आरजीवी द्वारा कलाकारों और तकनीशियनों को 1.25 करोड़ के बकाये का भुगतान करने में विफल रहने के बाद यह निर्णय लिया गया है. 

FWICE  ने कहा है कि उन्होंने फिल्ममेकर को को कई पत्र भेजे जिन्हें उन्होंने स्वीकार करने से इनकार कर दिया.  उन्होंने प्रतिबंध लगाने से पहले, उन्हें बकाया भुगतान करने के लिए कानूनी नोटिस भी भेजा गया.  

(यह भी पढ़ें: Video: जब मैंने 'शोले' की रीमेक बनाने की कोशिश की तो वो 'आग' बनीं, तो अगर मैं अब 'आग' की रीमेक बनाने की कोशिश करूंगा तो वो 'शोले' बन सकती है- फिल्ममेकर राम गोपाल वर्मा)

फेडरेशन के प्रेसिडेंट बीएन तिवारी ने कहा है कि "रामगोपाल वर्मा के गोवा में शूटिंग करने की जानकारी मिलने के बाद वहां के सीएम को भी इस संबंध में पत्र लिखा गया था. उन्होंने कहा कि हमारी ओर से सीएम अरविंद सावंत को 10 सितंबर, 2020 को पत्र लिखा गया था. हम चाहते हैं कि गरीब टेक्नीशियंस, आर्टिस्ट्स और वर्कर्स को उनका मेहनताना मिल जाए. लेकिन रामगोपाल वर्मा ने मांगों को अनसुना कर दिया. ऐसे में अब हमने उनके साथ भविष्य में काम न करने का फैसला लिया है."

उन्होंने आगे कहा, "इस संबंध में हमने इंडिया मोशन पिक्चर्स प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन और प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया को भी जानकारी दी है. इसके अलावा कुछ और यूनियंस को भी इस बैन के बारे में बताया गया है."

(Source:Twitter)

Recommended

Loading...
Share