क्राइम ब्रांच ऑफिस से बाहर निकले अभिनेता रितिक रोशन, फेक ईमेल आईडी मामले में बयान दर्ज करवाने थे पहुंचे

By  
on  

कंगना रनौत के खिलाफ फेक ईमेल आईडी मामले में रितिक रोशन मुंबई क्राइम ब्रांच ऑफिस में अपना बयान दर्ज करवा बाहर निकल चुके हैं. रितिक के साथ करीब दो घंटे तक पूछताछ चली. सुबह करीब साढ़े 12 बजे के आसपास रितिक स्टेटमेंट रिकॉर्ड करवाने के लिए क्राइम ब्रांच ऑफिस पहुंचे. 

रिपोर्ट्स के अनुसार उनके साथ अधिवक्ता महेश जेठमलानी मौजूद थे. सचिन वजे और सायबर क्राइम सेल के तीन ऑफिसर्स रितिक से पूछताछ रहे थे. रिपोर्ट्स के अनुसार अभिनेता से उनके पिछले तीन मोबाइल फ़ोन को जमा करने के लिए कहा गया है. फोरेंसिक के लिए दो लैपटॉप को कस्टडी में ले लिया गया है.   बता दें कि, यह समन साल 2016 से जुड़े केस का है, जिसे दो महीने पहले CIU को ट्रांसफर कर दिया गया था. उस केस में शिकायतकर्ता भी रितिक रोशन ही हैं. 

रितिक- कंगना विवाद: सायबर क्राइम सेल ने अभिनेता से उनके पिछले तीन मोबाइल फ़ोन जमा करने के लिए कहा- रिपोर्ट्स 

 

कंगना रनौत से जुड़े इस केस को पहले साइबर पुलिस स्टेशन इनवेस्टिगेशन कर रही थी. रितिक रोशन ने 5 साल पहले आईपीसी के सेक्शन 419 और आई ऐक्ट के सेक्शन 66 (सी) और 66 (डी) के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था. कंगना रनौत से जुड़ा विवाद इसी के बाद कई महीनों तक सुर्खियों में रहा था. दोनों ने एक दूसरे को कई लीगल नोटिस भेजे थे. इसलिए इस केस में बाद में कंगना का भी स्टेटमेंट लिया जा सकता है.रितिक रोशन को साल 2013-14 में उनके मेल आईडी पर सैकड़ों मेल आए थे. कंगना रनौत ने कथित तौर पर रितिक रोशन पर यह आरोप लगाया था कि वह उनके साथ रिलेशनशिप में थे और उन्होंने शादी करने से इनकार कर दिया था. इसके बाद दोनों के बीच काफी टाइम तक एक-दूसरे को कानूनी नोटिस भेजे गए थे.

Recommended

Loading...
Share