जावेद अख्तर मानहानि मामले की सुनवाई में हाजिर ना होने पर कंगना रनौत के खिलाफ जारी हो सकता है गिरफ्तारी वारंट, कोर्ट ने दिया आदेश

By  
on  

जावेद अख्तर बनाम कंगना रनौत मानहानि मामले में सुनवाई में शामिल नहीं होने के कारण कंगना रनौत को गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते है. दरअसल, एक्ट्रेस को आज अंधेरी मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट की अदालत में व्यक्तिगत रूप से पेश होना था. ऐसा न होने पर जावेद अख्तर के वकील जय भारद्वाज ने कथित तौर पर कंगना के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट के लिए एक आवेदन दायर किया. हालांकि, उनके वकील रिजवान सिद्दीकी ने कहा कि एक्ट्रेस लगातार यात्रा कर रही हैं और चूंकि वह अस्वस्थ हैं, इसलिए कंगना को एक कोविड टेस्ट करने के लिए कहा गया है. इसके बाद एक्ट्रेस को राहत दी गई.

इस पर अगली सुनवाई 20 सितंबर को होनी है और अदालत ने कथित तौर पर आदेश दिया है कि अगर कंगना रनौत पेश होने में विफल रहती हैं, तो उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया जाएगा. ऐसे मे उनके वकील ने स्पष्ट रूप से अदालत से एक सप्ताह का समय मांगा था और यहां तक ​​कहा था कि कंगना रनौत मामले की वर्चुअल सुनवाई के लिए उपलब्ध होंगी.

Javed Akhtar files defamation suit against Kangana Ranaut, challenges  threatening accusations in Hrithik Roshan case

(PeepingMoon Exclusive: पिछले साल हुए जानलेवा हमले पर बोली मालवी मल्होत्रा, 'मेरे परिवार की वजह से मैं इस चीज से बाहर आ पायी' )

पिछले साल जावेद अख्तर ने एक टेलीविजन इंटरव्यू के दौरान कंगना की कथित 'अपमानजनक और निराधार टिप्पणियों' के बाद मामला दर्ज किया था. दिसंबर 2020 में, अदालत ने जुहू पुलिस को अख्तर की शिकायत की जांच करने का निर्देश दिया और बाद में मानहानि का अपराध बनाया गया और अदालत ने एक्ट्रेस के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही शुरू की. पिछले हफ्ते, बॉम्बे हाईकोर्ट ने गीतकार जावेद अख्तर की शिकायत के आधार पर कंगना द्वारा दायर मानहानि के मामले को रद्द करने की मांग करने वाली याचिका को खारिज कर दिया था.

(Source: ETimes)

Recommended

Loading...
Share