एक पैर पर कूद कूद कर बच्ची 1KM दूर जाती थी स्कूल, मसीहा बनकर फिर सोनू सूद आए सामने कहा- 'ये बच्ची दोनों पैर से जायेगी स्कूल...'

By  
on  

फिल्म अभिनेता सोनू सूद ने कोरोना काल में जिस तरह मानवता की सेवा की, लोग उन्हें मसीहा कहने लगे। कई जगह उनकी मूर्तियां भी स्थापित की गई, लेकिन सोनू सूद कहते हैं, वह मसीहा नहीं ह‍ैं। वह बस जरिया हैं ज़रूरतमंदों को मदद पहुँचाने के लिए। और सोनू सूद ने एक बार फिर ये साबित किया है की जहाँ ज़रुरत है वहां सोनू सूद हैं। 

सोनू सूद ने इस बार बिहार की एक बेटी की मदद की है। बिहार के फतेहपुर की एक दिव्यांग लड़की जो करीब एक किलोमीटर चलकर स्कूल जाती है। बच्ची का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ, और यह वीडियो सोनू सूद के नज़र में गया।

जिस बच्ची की हम बात कर रहे है, वो एक पैर से दिव्यांग है। पढ़ने की चाहत में वो एक पैर से रोजाना एक किलोमीटर दूर स्कूल का सफर करती है। जब यह मामला सोनू सूद के नज़र में आया तो उन्होंने बच्ची की मदद करने का फैसला किया। सोनू सूद ने दिव्यांग बच्ची का वीडियो ट्विटर पर साझा किया और लिखा, "अब यह अपने एक नहीं दोनों पैरों पर कूद कर स्कूल जाएगी। टिकट भेज रहा हूँ, चलिए दोनों पैरों पर चलने का समय आ गया।"

सीमा ने एक सड़क हादसे में अपना एक पैर गवा दिया था। पढाई की चाहत में वो रोज एक किलोमीटर दूर सरकारी स्कूल का सफर तय करती है। सीमा का सपना है कि वो बड़ी होकर टीचर बने।

सीमा को ट्राईसाइकिल मिल गई है। वहां के डीएम, एसपी और अन्य अधिकारियों ने स्वयं जाकर सीमा को ट्राईसाइकिल हैंड ओवर किया। कृत्रिम पैर के लिए नाप भी ले लिया गया है। सीमा की और कई लोग मदद करना चाहते है।

 

Recommended

Loading...
Share