बुलेट से दिल्ली दिल्ली से खारदुंग ला की सवारी कर पहुंची फातिमा, संजना सांघी, दीया मिर्जा और रत्ना पाठक, पहली हिंदी फिल्म बनी धक धक

By  
on  

फिल्म धक धक दिल्ली से खारदुंग ला तक सवारी करने वाली पहली फिल्म इकाई बन गई है, जहां दुनिया का सबसे ऊंचा मोटरेबल पास लद्दाख में स्थित है। फिल्म में रत्ना पाठक शाह, संजना सांघी, दीया मिर्जा और फातिमा सना शेख मुख्य भूमिका में हैं। फिल्म से निर्माता बनीं अभिनेत्री तापसी पन्नू ने अपने इंस्टाग्राम पर इस खबर को अपने फॉलोअर्स के साथ साझा किया। एक तस्वीर साझा करते हुए तापसी ने कैप्शन में लिखा, दिल्ली से खारदुंग ला तक सड़क के रास्ते शूट किया, जो काफी डरावना और रोमांचक रहा है।

फिल्म और शूटिंग के बारे में बात करते हुए, अनुभवी अभिनेत्री रत्ना पाठक शाह ने एक बयान में कहा, किसी ने मुझे 6 महीने पहले कहा था कि मैं 65 साल की उम्र में लद्दाख के लिए पूरे रास्ते बाइक चलाऊंगा, तो मुझे हंसी आ गई थी! इस फिल्म ने कई मायनों में मेरे लिए खास रहा। इसने मुझे अपने डर का सामना करने के लिए मजबूर किया है, मुझे तनावपूर्ण परिस्थितियों में खुद पर, अपने सहयोगियों और अपने दल पर भरोसा करना सिखाया है, मुझे दुनिया के सबसे खूबसूरत और विस्मयकारी स्थानों में से एक में ले गया और मुझे कुछ अद्भुत लोगों से मिलवाया। तरुण दुडेजा द्वारा निर्देशित, धक धक चार महिलाओं के इर्द-गिर्द घूमती है, जो दुनिया के सबसे ऊंचे मोटरेबल पास के लिए एक साहसिक सड़क यात्रा पर निकलती हैं।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Taapsee Pannu (@taapsee)

फिल्म की निर्माता और मुख्य अभिनेत्री तापसी पन्नू का फिल्म के बारे में कहना है कि "आउटसाइडर्स फिल्म्स में हमारा लक्ष्य ऐसी फिल्मों का निर्माण करना है, जिनका कोई मतलब हो और इसके साथ ही मनोरंजक भी हों। हमने इस फिल्म से दर्शकों को एक ऐसा अनुभव देने का प्रयास किया है, जो उन्होंने शायद ही कभी स्क्रीन पर देखा होगा। धक धक ऐसी चार महिलाओं की कहानी बताती है, जो महसूस करती हैं कि स्वतंत्रता सबका अधिकार है और उसे कभी नहीं छोड़ना चाहिए। 'चश्मे बद्दूर', 'शाबाश मिट्ठू' और अब 'धक धक' तक फिल्म इंडस्ट्री में मेरे अब तक के सफर में वायकॉम 18 स्टूडियोज का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है। वायकॉम 18 स्टूडियोज और अजीत के रूप में, हमारे पास एक ऐसा साथी है, जिसकी अलग-अलग सिनेमा के लिए एक अलग सोच है। मुझे यकीन है कि हमारी यह सवारी एक बढ़िया सफर में बदलेगी।"

फिल्म अभी बन रही है और साल 2023 में सिनेमाघरों में दस्तक देगी। इस प्रोजेक्ट पर कमेंट करते हुए, वायकॉम 18 स्टूडियो के सीईओ, अजीत अंधारे ने कहा, "धक धक चार महिलाओं की एक दिल को छू लेने वाली कहानी है, जो अपने रोजमर्रा की जिंदगी से बाहर निकलकर एक यात्रा कर रही हैं। अपनी इस यात्रा के जरिए वह चारों अपने आप को ढूंढने निकली हैं। यह एक परफेक्ट स्क्रिप्ट थी।"

Recommended

Loading...
Share