NCB कोर्ट से आर्यन खान ने अपना पासपोर्ट वापस करने का आग्रह किया, ड्रग्स मामले में मिल चुकी है क्लीनचिट 

By  
on  

मुंबई क्रूज केस में आर्यन खान को नारकोटिक कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने  क्लीनचिट दे दी है। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने 6 हजार पेज की चार्जशीट स्पेशल NDPS कोर्ट में दायर की थी। इसमें केस के सबसे बड़े आरोपी के रूप में पेश किए गए एक्टर शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के खिलाफ एक भी सुबूत पेश नहीं कर पाई थी।  इस मामले में आर्यन को 2 अक्टूबर को अरेस्ट किया गया था और उन्हें 26 दिन बाद उसे जमानत मिली थी। अब क्लीन चिट मिलने के बाद बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान ने बृहस्पतिवार को एक विशेष एनडीपीएस अदालत के समक्ष याचिका दायर कर अपना पासपोर्ट वापस किए जाने का आग्रह किया। अदालत ने एनसीबी को जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया और मामले की सुनवाई के लिए 13 जुलाई की तारीख तय की।

आर्यन खान को एनसीबी ने पिछले साल अक्टूबर की शुरुआत में हाई-प्रोफाइल ड्रग्स मामले में गिरफ्तार किया था, लेकिन जांच एजेंसी ने मई में दायर आरोपपत्र में उनका नाम आरोपी के रूप में नहीं लिया।

एनसीबी ने ‘‘पर्याप्त सबूतों के अभाव” के कारण आर्यन खान और पांच अन्य को छोड़ दिया था। आर्यन खान ने ज़मानत की शर्तों के तहत अदालत में अपना पासपोर्ट जमा किया था। उन्होंने अपने वकीलों के माध्यम से विशेष अदालत में एक आवेदन दायर किया, जिसमें आरोप-पत्र का हवाला देते हुए पासपोर्ट वापस करने की मांग की गई, जिसमें उनका नाम नहीं है।

चौबीस वर्षीय आर्यन को एनसीबी ने पिछले साल तीन अक्टूबर को मुंबई के तट पर गोवा जाने वाले एक क्रूज जहाज़ पर छापेमारी के बाद गिरफ्तार किया था। मुंबई उच्च न्यायाल द्वारा ज़मानत दिए जाने से पहले आर्यन खान ने 20 दिनों से अधिक समय जेल में बिताया।

इस आधार पर आर्यन को मिली क्लीन चिट

NCB के डीजी संजय सिंह ने अपने बयान में कहा है कि अरबाज मर्चेंट ने अपने बयान में कहा था कि उसके पास से बरामद ड्रग्स आर्यन खान के लिए नहीं थी। ड्रग्स केस में गिरफ्तार होने के बाद आर्यन का मेडिकल नहीं करवाया गया था, इसलिए यह साबित नहीं हो सका कि आर्यन ने ड्रग्स का सेवन किया था या नहीं? अरबाज ने अपने बयान में यह भी कहा था कि आर्यन ने क्रूज पर ड्रग्स ले जाने से मना किया था। किसी भी ड्रग पैडलर ने आर्यन को ड्रग्स सप्लाई करने की बात नहीं कही थी।

समीर वानखेड़े पर फिर उठे सवाल
इस चार्जशीट के सामने आने के बाद शुरुआत में इन्वेस्टिगेशन को लीड करने वाले NCB डायरेक्टर समीर वानखेड़े भी सवालों के घेरे में हैं। चार्जशीट के मुताबिक, SIT जांच के दौरान क्रूज पर हुई छापेमारी की कार्रवाई में भी कई अनियमितताएं मिली हैं। इस SIT का गठन कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक द्वारा NCB के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े पर लगाए आरोपों के बाद किया गया था।

Recommended

Loading...
Share