पांडा की 'हल्का' का मॉन्ट्रियल में वर्ल्ड प्रीमियर होगा

By  
on  

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्म निर्माता नीला माधव पांडा की 'हल्का' 21वें अंतर्राष्ट्रीय डीयू फिल्म पॉर इंफेंट्स डे मॉन्ट्रियल फिल्म फेस्टिवल (एफआईएफईएम) में दिखाई जाएगी। बयान के मुताबिक, यह आधिकारिक वर्ग में छह अंतर्राष्ट्रीय बाल फिल्मों के साथ प्रतिस्पर्धा करेगी और इसका वर्ल्ड प्रीमियर गुरुवार को होगा।

यह फिल्मोत्सव कनाडा के मॉन्ट्रियल में 11 मार्च तक चलेगा।

'हल्का' दिल्ली में एक झुग्गी में रहने वाले आठ वर्षीय लड़के की महत्वकांक्षा और उसके सपने पर आधारित है। इसमें बाल कलाकार तथास्तु को पिकाचू के किरदार में देखा जाएगा। वहीं रणवीर शौरी और पाउली दैम को पिकाचू माता-पिता की भूमिका में हैं।

'कड़वी हवा' और 'आई एम कलाम' जैसी फिल्मों के लिए पहचाने जाने वाले पांडा ने कहा, "यह भारत में बाल सिनेमा क्षेत्र में उठाया गया नया कदम है। मैंने बच्चों की परिभाषा में कल्पना, सपनों, महत्वकांक्षा जैसे शब्दों को व्यक्त करने की कोशिश की है। फिर भी यह एक जटिल वयस्क की दुनिया है और मैंने उस अंतरिक्ष में जीवन की कल्पना की।"

Recommended

Loading...
Share