श्रीदेवी की डाक्यूमेंट्री के लिए बोनी कपूर ने रजिस्टर करवाएं तीन नाम

By  
on  

दिग्गज अभिनेत्री श्रीदेवी के जीवन पर बन रही डॉक्यूमेंटरी के लिए पति बोनी कपूर ने 'श्री, श्रीदेवी और श्री मैम' ये तीन नाम रजिस्टर करवाएं हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बोनी उन फिल्मों के राइट्स ले रहे हैं जिन फिल्मों में श्रीदेवी ने काम किया हैं. इन फिल्मों में 'चालबाज', 'रूप की 'रानी चोरों का राजा', 'जांबाज', 'मिस्टर इंडिया' जैसी फिल्में शामिल हैं. हाल ही में श्रीदेवी को उनकी आखिरी फिल्म मॉम के लिए नेशनल फिल्म अवॉर्ड में बेस्ट एक्ट्रेस के खिताब से नवाजा गया. फिल्म में नवाजुद्दीन सिद्दीकी भी थें.

एक्ट्रेस के निधन के कुछ दिन बाद ट्विटर पर पहली बार बोनी कपूर ने अपनी भावनाएं जाहिर करते हुए लिखा कि उनकी जिंदगी में श्रीदेवी कितने मायने रखती हैं. ट्विटर पर शेयर किए गए लंबे पत्र में बोनी लिखते हैं, 'एक दोस्त, पत्नी और दो युवा बेटियों की मां को खोने का दर्द शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता. मैं अपने दोस्त, परिवार, सहयोगी, शुभचिंतक और अनगिनत फैन्स का आभार जताना चाहूंगा, जो इस घड़ी में मेरे साथ खड़े रहे. मैं भाग्यशाली हूं कि मुझे अर्जुन और अंशुला का सपोर्ट और प्यार मिला. वे स्तंभ की तरह ताकत बनकर मेरे, जाह्नवी और खुशी के साथ खड़े रहे. हमने बतौर एक परिवार इस असहनीय घटना को झेलने की कोशिश की है.'

श्रीदेवी की मृत्यु को लगभग दो महीने से ज्यादा का वक्त हो गया हैं. बोनी कपूर, जान्हवी कपूर और खुशी कपूर ने उनके बिना जीने की आदत डाल ली हैं. तीनों अपनी नॉर्मल लाइफ में वापस लौट रहे हैं.

बता दें, फैशन डिजाइनर मनीष मल्होत्रा ने एक मैगज़ीन में बताया कि मौत से एक रात पहले 23 फरवरी को उन्होंने श्रीदेवी से काफी देर तक फोन पर बात की. मैगजीन में मनीष ने बताया कि मैं श्रीदेवी को पिछले 28 सालों से जानता हूं. दुबई में शादी के दौरान हम साथ थें. 23 फरवरी की रात मेरी उनसे बात हुई. फोन पर हमने जान्हवी की डेब्यू के बारे में बात की. शादी में ख़ुशी कितनी खूबसूरत लग रही थी और उस दिन उन्होंने क्या खाया था. यहां तक कि उनके निधन के इतने दिनों बाद भी में अपना सोचता हूं कि काश मेरे फोन की घंटी बज जाए और हम फिर से डिजाइनर आउटफिट और खाने के बारे में बात करने लगे.

मनीष ने यह भी बताया की श्रीदेवी को गॉसिप करना पसंद नहीं था. हम खाना, कपड़े और मूवीज के बारे में बात करते थे. वह कभी किसी के बारे में बुरा नहीं सोचती थी.

Recommended

Loading...
Share