यश चोपड़ा के बाद श्रीदेवी को मिलेगा यह सम्मान, स्विट्ज़रलैंड अथॉरिटी ने किया फैसला

By  
on  

यश चोपड़ा के बाद अब स्विट्ज़रलैंड अथॉरिटी दिग्गज अभिनेत्री श्रीदेवी का स्टेचू बनाएगी. दिलचस्प की बात यह है कि स्विट्ज़रलैंड के इंटरलेकन टाउन में यश चोपड़ा का स्टेचू स्थापित है और अब श्रीदेवी को यह सम्मान मिलेगा. बता दें, यश चोपड़ा की ज्यादातर फिल्मों की शूटिंग स्विटज़रलैंड में हुई है. 1989 में आई चांदनी के ज्यादातर गानों की शूटिंग वहीं हुई है.

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो फिल्मों की वजह से भारतीय टूरिस्ट यहां की खूबसूरत लोकेशन्स को लेकर उत्साहित रहते हैं. शाहरुख़ और काजोल की फिल्म 'दिलवाले दुल्हनियां ले जाएंगे' का यादगार सीन जहां राज चर्च में सिमरन को जीसस के सामने प्रे करते हुए देख उसके सारे सपनें पूरा होने की विश करता है, स्वीटसेरलैंड के चर्च सेंट मॉरिशस चर्च में फिल्माया गया था.

बोनी कपूर की इन दो फिल्मों से इंस्पायर्ड होकर श्रीदेवी ने रखा बेटियों का नाम

अभिनेत्री की फिल्मों ने स्विट्ज़रलैंड में टूरिस्ट की संख्या बढ़ने में मदद की है. साल 2016 में फिल्म मेकर यश चोपड़ा का पुतला स्विट्ज़रलैंड में लगाया गया था. सूत्र बताते हैं कि श्रीदेवी पहली ऐसी अभिनेत्री थी जिन्होंने पहाड़ों के बीच गाना फिल्माया था. यश चोपड़ा की कई फिल्मों के ऐसे सीन है, जिन्हे टूरिस्ट वहां जाकर दोहराते हैं.

1964 में आई फिल्म संगम पहली ऐस भारतीय फिल्म थी, जिसकी शूटिंग स्विट्ज़रलैंड में हुई थी. इसके बाद बॉलीवुड मेकर्स ने स्विट्ज़रलैंड को अपना फेवरेट शूटिंग लोकेशन बना लिया.

BirthAnniversary: बेटी जाह्नवी कपूर ने मां श्रीदेवी संग शेयर की ये खास फोटो

बता दें, इंटरलेकन सरकार ने साल 2011 में यश चोपड़ा को शहर का का ब्रांड अम्बैसडर अनाउंस किया. उनकी आखिरी फिल्म शाहरुख खान, अनुष्का शर्मा और कैटरीना कैफ अभिनीत 'जब तक हैं जान' थी.

Recommended

Loading...
Share