PeepingMoon Exclusive: मुंबई पुलिस की जांच से खुश नहीं है पटना पुलिस, फिर से क्रिएट करना चाहती है सुशांत सिंह राजपूत का डेथ सीन

By  
on  

पटना पुलिस जो मुंबई में सुशांत सिंह राजपूत की मौत की एक समानांतर और स्वतंत्र जांच कर रही है, वह मुंबई काउंटपार्ट्स के इन्वेस्टीगेशन से जुड़े दस्तावेजों पर नियंत्रण रखने में मुश्किल महसूस कर रही है.

ऐसे में अब PeepingMoon.com ने जाना है कि मुंबई पुलिस की जांच से पटना पुलिस नाखुश है और इस तरह से वह एक्टर के बांद्रा स्थित अपार्टमेंट में फिर से उनके सुसाइड को संगठित कर सकती है. सिर्फ ऑटोप्सी रिपोर्ट ही नहीं बल्कि, पटना पुलिस 20 मिनट का वीडियो भी चाहती है जो कूपर हॉस्पिटल में एक्टर के पोस्टमार्टम के दौरान बनाया गया था और पुलिस द्वारा ली गई आत्महत्या के सीन्स की तस्वीरें भी. मुंबई पुलिस जिस के संरक्षण में यह सभी डाक्यूमेंट्स है ने पटना की विजिटिंग पुलिस को उन तक पहुंचने की अनुमति नहीं दी है, यहां तक कि एक्टर के अपार्टमेंट में सुरक्षा गार्ड द्वारा उन्हें एंट्री भी होने नहीं दिया गया है.

(यह भी पढ़ें: सुशांत सिंह राजपूत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखा ओपन लेटर, 'किसी सबूत के साथ कोई छेड़छाड़ न हो, उम्मीद है कि न्याय की जीत होगी')

ऐसा माना जा रहा है कि पटना पुलिस एक्टर के वेट और हाइट से मिलता जुलता एक डमी लेकर फांसी को फिर से रिकंस्ट्रक्ट करना चाहती है और फिर अपने रिपोर्ट की तुलना सुशांत की गर्दन पर पाए गए निशान और ऑटोप्सी में दर्ज की गई, चीजों से तुलना करना चाहती है.

दूसरे डॉक्यूमेंट में पटना पुलिस विसरा रिपोर्ट और कपड़ो की टेंसिल टेस्ट मांग रही है, जिसका इस्तेमाल कथित तौर पर एक्टर ने खुद को पंखे से लटकाने के लिए इस्तेमाल किया था, जिसके लिए एक्टर के फैंस जोर देते नजर आ रहे हैं कि वह उनकी जांच के लिए महत्वपूर्ण साबित होगा.   

पटना में मीडिया से बात करते हुए, बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने कहा कि मुंबई पुलिस पटना के पुलिसकर्मियों की चार सदस्यीय टीम के साथ इस आधार पर सहयोग नहीं कर रही थी कि मामला उप-न्यायिक है.

Recommended

Loading...
Share