सिनेमाई दुनिया की चहेती सरोज खान जरूर अब स्वर्ग में बांट रहीं होंगी अपना हुनर

By  
on  

बॉलीवुड की दिग्गज कोरियोग्राफर सरोज खान ने 72 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया है. सरोज खान का कार्डियक अरेस्ट की वजह से मुंबई के बांद्रा स्थित गुरु नानक अस्पताल में निधन हो गया.  सरोज खान ने अपने 40 साल से अधिक के करियर में 2000 से ज्यादा बॉलिवुड गानों को कोरियोग्राफ किया था. माधुरी दीक्षित, श्रीदेवी, ऐश्वर्या राय सहित कई बड़े स्टार्स को उन्होंने कोरियोग्राफ किया था. इन स्टार्स की सफलता का बड़ा क्रेडिट सरोज खान को जाता है. बॉलिवुड स्टार्स उन्हें मास्टरजी के नाम से बुलाते थे. 
सरोज खान की श्रीदेवी से स्पेशल बॉन्डिंग थी. उनके कई हिट गानों को श्रीदेवी ने कोरियोग्राफ किया था. श्रीदेवी के निधन के बाद सरोज ने कहा था कि उनके साथ काम करके वह खुद को लकी मानती हैं. वैसे तो सरोज खान ने श्रीदेवी के लिए कई गाने कोरियोग्राफ किए हैं पर साल 1987 में आई फिल्म 'मिस्टर इंडिया' का 'हवा हवाई' गाना श्रीदेवी के लिए हमेशा खास था.
सरोज 1974 से एक इंडिपेंडेंट बॉलीवुड कोरियोग्राफर के रूप में काम कर रही थीं. लेकिन सरोज खान को श्रीदेवी स्टारर 'मिस्टर इंडिया' और श्रीदेवी की ही साल 1989 में आई फिल्म 'चांदनी' से फेम मिला. श्रीदेवी ने सरोज के डांस स्टेप्स को बहुत ही ग्रेसफुल और एलिगेंस के साथ किया. 


माधुरी दीक्षित और सरोज ख़ान का खास कनेक्शन था. माधुरी दीक्षित पर फिल्माया फिल्म 'तेजाब' का 'एक दो तीन' (1989), फिल्म 'थानेदार' का 'तम्मा तम्मा लोगे' (1990), फिल्म तेजाब का 'धक-धक' (1992) और खलनायक का 'चोली के पीछ क्या है' ....ये सब गाने अब सरोज खान की फ़्लैश बैक की यादों की तरह हैं. 
सरोज खान ने अपने 40 साल से अधिक के करियर में 2000 से ज्यादा बॉलिवुड गानों को कोरियोग्राफ किया था. माधुरी दीक्षित, श्रीदेवी, ऐश्वर्या राय सहित कई बड़े स्टार्स को उन्होंने कोरियोग्राफ किया था. इन स्टार्स की सफलता का बड़ा क्रेडिट सरोज खान को जाता है. 

सरोज के निधन की खबर आते ही अक्षय कुमार ने सोशल मीडिया पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए लिखा, 'उठते ही खबर मिली कि लेजेंडरी कोरियोग्राफर सरोज खान अब नहीं रही. उन्होंने डांस को इतना आसान बना दिया था कि कोई भी डांस कर सकता है. इंडस्ट्री के लिए बहुत बड़ा नुकसान.उनकी आत्मा को शांति मिले. 

Recommended Read: कोरियोग्राफर सरोज खान का कार्डियक अरेस्ट से हुआ निधन, इंडस्ट्री को लगा एक और झटका  

साल 2005 में, जब सरोज टीवी पर एक सेलिब्रिटी जज के रूप में रियलिटी डांस शो में दिखाई देने लगीं, कि आपको उनके फुर्तीले पैरों में नर्तकी और अभिनेत्री को उनके भावपूर्ण भावों का अंदाजा हो गया... उनके लिए यही कहेंगे, वह वास्तव में इन लोकप्रिय डांस शो की सबसे अच्छी जज थीं. हमें ये नहीं पता कि उन्होने कहाँ  से डांस करना सीखा...लेकिन इतना पता है कि वह अपने प्यारे होठों और भौंहों को ऐसे लुभावने झटक और मटक में डालकर डांस मूव करतीं थी जो किसी को भी दिवाना बना देता था. आज के कोरियोग्राफर और जेननेक्स्ट डांसर्स में इसकी कमीं सी दिखती है. 

उन्होंने फिल्म देवदास के गाने 'डोला रे डोला', 'श्रृंगारम' के सारे गाने, 'जब वी मेट' के 'ये इश्क हाये' के लिए नैशनल अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था. फिल्म 'गुरु', 'देवदास', 'खलनायक', 'हम दिल दे चुके सनम', 'बेटा', 'सैलाब', 'चालबाज' और 'तेजाब' के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड से नवाजा जा चुका है. सरोज खान के पैरों पर प्रकाश और बैलेस्टिक, उसकी चाल में क्लासिक और स्टाइलिश, उसकी अभिव्यक्ति में नियंत्रित और परिष्कृत...दर्शकों के सामने उठने और नाचने में बस खुशी और गर्व होता था....ये सरोज खान थी. RIP सरोज खान

 

Recommended

Loading...
Share