उलझे रिश्तों की कहानी है ' गहराइयां' - इंटिमेट सीन शूट करना था कितना मुश्किल था, पहली बार दीपिका पादुकोण ने खुलकर बात रखी

By  
on  

दीपिका पादुकोण और सिद्धांत चतुर्वेदी की मच अवेटेड फिल्म 'गहराइयां' का प्रीमियर अमेज़न प्राइम वीडियो पर हो गया है। फैंस इस फिल्म का लंबे वक्त से इंतजार कर रहे थे। दीपिका पादुकोण-सिद्धांत चतुर्वेदी के अलावा फिल्म में अनन्या पांडे और धैर्य करवा की मुख्य भूमिकाओं में हैं। फिल्म का निर्देशन शकुन बत्रा ने किया है।

'गहराइयां' एक आधुनिक समय की प्रेम कहानी है जो रिश्तों और बेवफाई के अलग स्तर को दर्शकों के सामने लेकर आती है। ओटीटी प्लेटफॉर्म पर फिल्म के प्रीमियर के बाद, दर्शकों ने इसे देखा और इस पर अपने विचारों को साझा करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया।

फिल्म में दीपिका अपने को-स्टार सिद्धांत चतुर्वेदी (Siddhant Chaturvedi) के साथ इंटिमेट सीन्स देती नजर आई है। जब से इस फिल्म का ट्रेलर रिलीज हुआ है तब से एक्ट्रेस के किसिंग और इंटिमेट सीन्स की काफी चर्चा में है। और पहली बार दीपिका पादुकोणे ने खुलकर बोला है। दीपिका से पूछा गया कि इन सीन्स का क्या रिएक्शन है?  

दीपिका पादुकोणे ने कहा गहराईयां पर रणवीर के रिएक्शन के बारे में बात करते हुए कहा, मुझे लगता है कि उन्हें बेहद गर्व है। उन्हें उस फिल्म पर गर्व है जो हमने बनाई है और साथ ही उन्हें मेरी परफॉरमेंस पर भी गर्व है।  वहीं एक्ट्रेस ने बताया कि उनके लिए यह रोल करना कितना मुश्किल रहा था। फिल्म में इंटिमेट सींस की डिमांड थी, जिसके लिए सेट पर इंटिमेसी डायरेक्टर मौजूद होते थे।

दीपिका ने बताया था कि इस रोल में कई सारे लेयर्स हैं, जिसके अनुसार उन्हें निर्णय लेने पड़ते हैं। दीपिका के मुताबिक, वे रियल लाइफ में भी कई तरह के मेंटल हेल्थ इश्यूज से गुजर चुकी हैं और फिल्म में उनका किरदार भी कुछ ऐसा ही है। हालांकि उनके रीजंस इस रोल के रीजंस से बिल्कुल अलग हैं और यदि आपका एक्सपीरियंस भी कुछ ऐसा ही रहा है तो आप यकीनन खुद को इस रोल से रिलेट कर पाएंगे। 

दीपिका पादुकोण के लिए गहराइयां में इंटिमेट सीन शूट करना था कितना चैलेंजिंग
जब दीपिका से इस बारे में पुछा गया तो उन्होंने पहली बार कहा कि- फिल्म में इंटिमेसी सीन करना कभी भी आसान नहीं होता है और लेकिन हमारे डायरेक्टर शकुन बत्रा ने हम लोगों को काफी सेफ और कन्फर्टेबल माहौल दिया था। हमने इस फिल्म में जिस तरह से इंटिमेट सीन्स किए हैं वैसे भारतीय सिनेमा में पहले कभी नहीं किए गए। ये कुछ ऐसा है जो हम लोगों के लिए नया अनुभव है। 

दीपिका आपको लगता है जूनियर एक्टर के साथ आप कम्फर्टेबल होते हैं 

इस सवाल के जवाब में दीपिका ने आगे कहा कि- इंटिमेट सीन्स करना तब आसान हो जाता है जब आप डायरेक्टर क्या चाह रहा है वो समझ जाएं। क्योंकि कैरेक्टर तो आखिर वहीं से आ रहा है। तो प्रिपरेशन और डिटेलिंग काफी जरूरी है। एक इंटिमेसी डायरेक्टर का होना बहुत जरूरी था। इसके बाद आप के साथ जूनियर एक्टर हो या सीनियर इसका कोई मतलब नहीं रहता है। एक्टर हमेशा एक्टर ही होता है और अपने स्क्रिप्ट के हिसाब से काम करते हैं।  

 

Recommended

Loading...
Share