Mardaani 2 Review: महिलाओं के साथ होने वाली रेप की घटनाओं के विरोध में उठी एक आवाज है रानी मुखर्जी की यह फिल्म

By  
on  

फिल्म: मर्दानी 2
कास्ट: रानी मुखर्जी, विशाल जेठवा
निर्देशक: गोपी पुथ्रन
रेटिंग: 4 मून्स

रानी मुखर्जी स्टारर और गोपी पुथ्रन द्वारा डायरेक्टेड फिल्म 'मरदानी 2' की कहानी राजस्थान के कोटा शहर पर आधारित है. बता दे कि यह 2014 की हिट फिल्म 'मरदानी' का सीक्वल है. पिछली बार चाइल्ड ट्रैफिकिंग के मुद्दे को बताने के बाद अब रानी रेप- मर्डर की हो रही घटनाओं से लड़ती हुईं नजर आ रही हैं.

रानी जैसी कमाल की एक्ट्रेस को एक एसपी के किरदार में रेपिस्ट और मर्डरर को पकड़ते हुए देखना उनके फैंस के लिए बेहद खास होने वाला है. अपने हर सीन के साथ न्याय करते हुए रानी को देखना फैंस के लिए किसी तोहफे की तरह है. हालांकि 2018 में आई 'हिचकी' के बाद रानी की यह पहली फिल्म है.

हालांकि फिल्म के बारे में यह नहीं कहा जा सकता कि इसकी शुरुआत बहुत अच्छी है. लेकिन कहानी के आगे बढ़ने के साथ जैसे ही फिल्म में रेपिस्ट से बदला लेने का ड्रामा शुरू होता है, वैसे ही फिल्म की कहानी दमदार लगने लगती है. बता दे की हैदराबाद की प्रियंका रेड्डी के साथ हुए गैंगरेप की घटना के समय रिलीज हुई इस फिल्म के लिए यह एक सही समय माना जा सकता है.

फिल्म युवा खलनायक (विशाल जेठवा द्वारा निभाई गई भूमिका) के साथ शुरू होती है, जो अजीब तरह से अपने अज्ञात इरादों का खुलासा करता है कि क्यों वह महिलाओं के साथ रेप कर रहा है. उसके द्वारा फिल्म में किया गया पहला अपराध आपको श्रीदेवी की 'मॉम' की याद जरूर दिलाएगा. फिल्म में जल्द कुछ और मर्डर्स के बाद हत्यारे और एसपी शिवानी रॉय के बीच चूहे और बिल्ली का खेल शुरू हो जाता है. इस दौरान शिवानी रॉय को कॉन्ट्रैक्ट किलिंग्स, राजनीतिक हस्तक्षेप और कुछ स्मार्ट जांच कौशल की जरूरत पर जोर देना पड़ता है.

'मर्दानी 2' दिलचस्प है, हालांकि कुछ सीन्स में आप कुछ कमियां महसूस करेंगे. फिल्म में कई बार रेप का माइंडसेट आपको बैक सीट पर लेकर जाता है. फिल्म में डायरेक्टर ने शिवानी द्वारा उसे पकड़ने की नियोजित तकनीकों पर ध्यान देने के साथ उसे प्रक्रियात्मक बनाने की कोशिश की है.

फिल्म में अच्छी बात यह है कि आप इसमें शिवानी को खुद केस को सुलझाते हुए देखेंगे, वह भी अपराध साबित करने के लिए नहीं बल्कि कथित अपराधी को टक्कर देने के लिए दिखाया गया है. फिल्म के क्लाइमेक्स में आप रेपिस्ट को सख्त सजा देने की भावना खुद में महसूस करेंगे.

फिल्म में हमेशा की तरह अपनी रानी अपनी छाप छोड़ती नजर आ रही हैं. वहीं, फिल्म में नेगेटिव किरदार निभा रहे विशाल जेठवा ने भी अपने किरदार के साथ न्याय किया है. वहीं, बात करें फिल्म की तो 'मर्दानी 2' महिलाओं के खिलाफ भयावह हिंसा पर एक महत्वपूर्ण रोशनी डालती हुई फिल्म है. आज कल जिस तरह से रेप की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं, उस तरह से शिवाजी रॉय हमारे सामूहिक क्रोध की एक कल्पना है, जिसे फिल्म देखने वाला महसूस कर सकता है. 

(Source: Masala) 

 

Recommended

Loading...
Share