Angrezi Medium Review: बाप-बेटी के खूबसूरत जज्बात की कहानी है इरफान की यह फिल्म, करीना कपूर खान हैं सरप्राइज एलिमेंट

By  
on  

फिल्म: अंग्रेजी मीडियम
कास्ट: इरफान खान, दीपक डोबरियाल, राधिका मदान, करीना कपूर, कीकू शारदा, पंकज त्रिपाठी, रणवीर शौरी व डिंपल कपाड़िया आदि।
डायरेक्टर: होमी अदजानिया
प्रोड्यूसर: दिनेश विजन, ज्योति देशपांडे
मून्स: 4 मून्स 

फिल्म अंग्रेजी मीडियम में इरफान खान ने चंपक बंसल (इरफान) का किरदार निभाया है, जिसकी एक बेटी तारिका (राधिका मदान) होती है जिसके सपनों के लिए वह कुछ भी करने को तैयार रहता है. इसके अलावा चंपक की जिंदगी में उसका छोटा भाई घसीटाराम (दीपक डोबरियाल) भी होता है जिसके साथ पुश्तैनी मिठाई की दुकान को लेकर खींचातानी होती रहती है. हालांकि दोनों की झगड़ों में तीसरे का कभी फायदा नहीं होता क्योंकि किसी भी बुरे वक्त में वह एक दूसरे के साथ खड़े होते हैं.

जयपुर के मिडिल क्लास फैमिली के रहने वाले चंपक की बेटी का सपना इंग्लैंड में जाकर आगे की पढ़ाई करने का होता है. जिसके लिए वह चंपक से शर्त लगाती है कि अगर वह 90% तक अपनी 12वीं की परीक्षा में लाती है, तो वह उसे बाहर पढ़ने के लिए जाने देगा. तारिका मेहनत कर शर्त जीत जाती है और जैसे-तैसे कॉलेज से स्कॉलरशिप भी पा लेती है, लेकिन एनुअल डे के मौके पर चंपक की एक गलती के कारण तारिका के हाथ से या मौका निकल जाता है. जिसके बाद तारिका चंपत को बहुत कुछ बोलते हुए अच्छा पिता ना होने की बात कह जाती है, जो चंपक के दिल को ठेस पहुंचाता है.

इस तरह से फिल्म की कहानी मजेदार ढंग से आगे बढ़ती है और चंपक कसम खाता है कि वह किसी भी तरह से अपनी बेटी को आगे की पढ़ाई के लिए इंग्लैंड भेजेगा. बहुत सारे उतार-चढ़ाव के बाद चंपक की मुलाकात मिसेज कोली (डिंपल कपाड़िया) और कॉप के किरदार में उनकी बेटी नैना (करीना कपूर खान) से होती है. विदेश जाने के बाद चंपक की मुलाकात नए दोस्त बबलू ( रणवीर शौरी), एक अच्छे मददगार और पड़ोसी (कीकू शारदा) और ट्रैवल एजेंट (पंकज त्रिपाठी) से होती है. 

अंग्रेजी मीडियम में सबसे अच्छी चीज जो आपको लगेगी वह है इरफान की शानदार एक्टिंग. खराब तबीयत के बावजूद एक्टर ने फिल्म के हर एक सीन में अपना एक खास टच दिया है. हालांकि, कुछ जगहों पर हम एक्टर को थका हुआ देख सकते हैं, लेकिन इससे उनकी एक्टिंग में कोई फर्क पड़ता नजर नहीं आ रहा है. ऐसा कहना गलत नहीं होगा कि एक्टर ने फिल्म को अपने कंधों पर खूबसूरत ढंग से संभाला है.

फिल्म में दीपक डोबरियाल ने कुछ सीन्स में अपने कमाल की परफॉरमेंस से लाइमलाइट अपनी तरफ खींची है. जी हां, ऐसा कहना गलत नहीं होगा कि उन्होंने कुछ जगहों पर इरफान को भी कड़ी टक्कर दी है. वहीं बेटी के किरदार में राधिका भी न्याय करती नजर आ रही हैं. इसके अलावा बात करें डिंपल, रणवीर, कीकू और पंकज की तो सभी अपने-अपने किरदार में फिट होते दिखाई दे रहे हैं. बात करें करीना की तो वह फिल्म में एक सरप्राइज एलिमेंट हैं, जिन्होंने अपने 6 सीन्स में ही दर्शकों का ध्यान अपनी तरफ खींचा है.

फिल्म की शानदार कहानी को लिखने के लिए हम राइटर भावेश मंडलिया, गौरव शुक्ला, विनय छावल और सारा बोडिनार की जितनी भी तारीफ करें उतनी कम है. फिल्म में अनिल मेहता की सिनेमैटोग्राफी और सचिन-जिगर और तांशी बागची के संगीत ने फिल्म में जान फूंकने में कोई कसर नहीं छोड़ी है.

आखिर में बात करें फिल्म के डायरेक्टर होमी अदजानिया की तो उन्होंने बेहद शानदार काम किया है. जी हां, हिंदी मीडियम (2017) को शानदार तरीके से आगे बढ़ाते हुए होमी ने इरफ़ान के कमाल के परफॉरमेंस से सभी का दिल जीत लिया है. ऐसे में अगर इस हफ्ते आप फिल्म देखने की प्लानिंग कर रहे हैं तो प्लीज घर से बाहर निकल इस फिल्म को जरूर देखिए. इस फिल्म को देख आप यह महसूस जरूर करेंगे कि लम्बे समय बाद आपने किसी अच्छी कहानी को सिल्वर स्क्रीन पर एक अच्छे एक्टर की परफॉरमेंस के साथ देखा है.

(Transcripted By: Nutan Singh)

(Source: Peepingmoon)

Recommended

Loading...
Share