कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई और गवर्नर थावरचंद गहलोत ने कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार को दी आखिरी विदाई

By  
on  

29 अक्टूबर को कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार का निधन हो गया है. उनको हार्ट अटैक आया था. हालत बिगड़ने के बाद उन्हें बेंगलुरु के विक्रम अस्पताल में भर्ती कराया गया था. लेकिन इलाज के बावजूद उन्हें बचाया नहीं जा सका. पुनीत राजकुमार की उम्र महज 46 साल थी. एक्टर होने के साथ-साथ पुनीत दो बेटियों के पिता भी थे. 1999 में उन्होंने अश्विनी से लव मैरिज की थी.
वहीं कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई और गवर्नर थावरचंद गहलोत ने कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार को  आखिरी विदाई दी है.

हार्ट अटैक की वजह से कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार का 46 साल की उम्र में हुआ निधन

वहीं इससे पहले कर्नाटक मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने अभिनेता पुनीत के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए अभिनेता के निधन को एक बहुत बड़ा व्यक्तिगत नुकसान बताया, जिसे कभी भरा नहीं जा सकता है. सीएम बसवराज बोम्मई ने लिखा था कि, 'स्तब्ध और गहरा दुखी हूं। कर्नाटक के सबसे चहेते सुपरस्टार पुनीत राजकुमार अब हमारे बीच नहीं रहे। एक बहुत बड़ा व्यक्तिगत नुकसान, जिसकी भरपाई करना मुश्किल है। सर्वशक्तिमान प्रार्थना राजकुमार परिवार और प्रशंसकों के साथ, ताकि उन्हें इस नुकसान को सहन करने की शक्ति मिले.'

वहीं बता दें कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुनीत राजकुमार के साथ ट्विटर पर एक शेयर की थी.इस तस्वीर में देखा जा सकता है कि, पीएम मोदी और पुनीत राजकुमार चेहरे पर स्माइल के साथ फोटो क्लिक करवा रहे हैं. इस दौरान उनके पीछे एक हेलीकॉप्टर भी नजर आ रहा है. ऐसा लग रहा है कि, पीएम मोदी ने इस हेलीकॉप्टर में बैठने से पहले अभिनेता के साथ तस्वीर खिंचवाई है. 
पुनीत राजकुमार कन्नड फिल्मी दुनिया के सुपरस्टार थे. उन्होंने अपने करियर में एक से बढ़कर एक हिट फिल्में दीं. उनकी फैन फॉलोइंग का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि, अभिनेता के निधन के बाद कर्नाटक की सरकार ने राज्य में धारा 144 लागू कर दी है। इतना ही नहीं, राज्य में सभी थिएटरों को भी बंद कर दिया गया है.

पुनीत ने अपने करियर की शुरुआत बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट की थी. साल 1985 में यह फिल्म 'बेट्टाड़ा होवू' में नजर आए थे. इस रोल के लिए इन्हें कई अवॉर्ड्स मिले. साथ ही इन्हें नेशनल अवॉर्ड से भी नवाजा गया. इतना ही नहीं उन्होंने कर्नाटक स्टेट अवॉर्ड में बेस्ट चाइल्ड आर्टिस्ट का अवॉर्ड Chalisuva Modagalu और Yeradu Nakshatragalu में अपनी परफॉर्मेंस के लिए जीता था. पुनीत देशभर में अप्पू के नाम से 2002 में फेमस हो गए. उन्हें ये नाम फैंस की ओर से दिया गया. वो ‘अभी’, ‘वीरा कन्नडिगा’, ‘अजय’, ‘अरासु’, ‘राम’, ‘हुडुगारु’ और ‘अनजनी पुत्र’ जैसी फेमस फिल्मों के लिए जाने जाते हैं. उन्हें आखिरी बार फिल्म ‘Yuvarathnaa’ में देखा गया था., जहां दर्शकों ने इनकी परफॉर्मेंस को काफी पसंद किया. इसी साल यह फिल्म रिलीज हुई थी.
(Source: Twitter)

 

Recommended

Loading...
Share