हालिया विवाद पर बोले अर्जुन रामपाल, 'अपने बच्चों को 'सच्चाई' समझाएं. यह मेरी सच्चाई है और मैं इसके द्वारा खड़ा हूं'

By  
on  

पीपिंगमून के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में अर्जुन रामपाल ने फिल्मों  साल की जर्नी को याद किया. क्यों एक्टिंग के लिए उन्होंने मॉडलिंग छोड़ी. हालिया विवाद को देख किस तरह उनके परिवार ने रियेक्ट किया और कैसे उनकी बहुचर्चित '2020 सोशल मीडिया पोस्ट' वायरल हो रही है. जिसमें उन्होंने बीते साल को बहुत ही कष्टदायक बताया है, इसमें उन्होंने NCB द्वारा की जा रही पूछताछ का भी जिक्र किया है. इस लेटर में उन्होंने कहा है कि वो किसी भी हाल में कानून के गलत इस्तेमाल के पक्ष में नहीं हैं. 'द लर्निंग 2020' टाइटल नाम के इस लेटर में अर्जुन रामपाल ने अपने फैंस को नए साल की शुभकामनाएं भी दी हैं. 

'आप सभी को एक सुरक्षित, धन्य, स्वस्थ और समृद्ध साल 2021 की हार्दिक शुभकामनाएं, 2020 ने हमें बहुत कुछ सिखाया. मैं अपनी सीख इस पत्र के माध्यम से बता रहा हूं. नया साल मुबारक हो.' अर्जुन रामपाल ने लेटर में लिखा है कि अब हम 2021 में आ गए हैं, लेकिन मेरे लिए 2020 मुझे बहुत दिखाकर चला गया है, 2020 में मैंने भय, चिंता, व्यवधान, स्कैंडल, पाखंड, झूठ, बोध, ज्ञान, शौर्य, शक्ति, साहस, दान, भ्रम, स्पष्टता और चरित्र. इन सभी में से ज्यादातर को मैंने महसूस किया है और उनमें से प्रत्येक ने मुझे एक भावना के साथ अभिभूत किया है.
अर्जुन ने पीपिंगमून को बताया, 'शायद मैं इसे बेहतर तरीके से समझा सकता था. यह सिर्फ 2020 तक ही नहीं था, यह इंडस्ट्री  में 20 साल पूरे करने के बारे में भी था. मुझे नोट्स लिखना पसंद है और मैं खुद को 2020 के बारे में लिख रहा था क्योंकि यह हमें आत्मनिरीक्षण करने के लिए बहुत समय देता था. मैं सीखने का बहुत बड़ा अनुभव था. यह एक सफाई का साल था. बहुत कुछ बकवास था, अच्छा भी था, महामारी और कष्ट.  बहुत बड़प्पन था जहां लोग बाहर निकलते थे और जहां रास्ते से हटकर मदद करते थे और हम कुरूपता और घृणा में पड़ गए और मैं 20 साल पूरे करने के अपने अनुभव को संक्षेप में बताने की कोशिश कर रहा था. मेरे पास 2020 का क्रेज है और अगर लोग इसे ऐसे देखते हैं तो शायद वे इसे बेहतर समझ पाएंगे. 

अर्जुन से जब पूछा गया कि उनके खिलाफ फैली न्यूज़ पर उनके बच्चों ने किस तरह रियेक्ट किया तो उन्होंने कहा, 'उनके बच्चे 'मजबूत और स्मार्ट' थे. मुझे लगता है कि सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि उन्हें समझाना ही सच है. सच से ज्यादा ठोस या महत्वपूर्ण कुछ भी नहीं है और जब सभी धूल जम जाती है, तो केवल वही चीज सच रह जाती है. इसलिए, मैं उन्हें क्या बताता हूं. वे मजबूत और स्मार्ट बच्चे हैं और हम एक-दूसरे को जानते हैं, ऐसा नहीं कि वे अजनबियों के साथ रह रहे हैं. बहुत सी सच्चाई है जो उजागर होती है और बहुत सी सच्चाई सामने आती है और मुझे अपनी सच्चाई पर विश्वास होता है. मुझे कोई डर नहीं है. जो भी हो'. 

Recommended

Loading...
Share