Bigg Boss 13: हिंदुस्तानी भाऊ के रूप में घर के अंदर रश्मि देसाई को मिला गुरु, दिया यह गुरुमंत्र

By  
on  

अपने बिंदास स्वाभाव के लिए जाने जानें वाले हिंदुस्तानी भाऊ घर के बहार ही नहीं बल्कि बिग बॉस के अंदर भी सभी का दिल जीतते हुए नजर आ रहे हैं. वूट के अनदेखे  नए क्लिप में, उन्हें रश्मि देसाई को गुस्से को नियंत्रित करने और एक गेम खेलने के बारे में समझते और सलाह देते हुए देखा जा सकता है. 

विकास उर्फ भाऊ ने कहा है कि "मैं 12 साल का था तब से खोपड़ी चलाकर यहां पहुचा हूं. रश्मि द्वारा और पूछताछ करने पर वह बताते हैं, "मैं 11 साल का था तब से मैंने काम किया है. पहले जिमखाना में बॉलबॉय का काम किया, ट्रेन में अगरबत्ती वाला, लेडीज बार में थाली धोया, छोटू का काम किया, चाइनीस के गाडी पर भी प्लेट धोया लेकिन सैलरी नहीं मिलता था. जो बचा रहता था वो मैं थैली (पॉलीथिन बैग) में डालके घर पे लाता था. बहुत काम किया, दुनियादारी देखा है. मैं लोगो को पहचानता है किसकी औकात किदार है जनता है."

दोनों रश्मि और शहनाज उनकी बाते सुनकर आश्चर्यचकित हो गयीं, जिसके बाद रश्मि ने पूछा कि "अच्छा ? मेरी बताओ ?" , जिसके जवाब में उन्होंने कहा "तेरेको नहीं समझा है मैं अब तक. तेरी कसम नहीं समझा!" रश्मि इसके पीछे का कारण पूछती है,  जिसके जवाब में वह कहते हैं, "पर एक बात है म कि तू दिल की साफ है, पर तेरा खेल खेल नहीं समझ आया अब तक."

रश्मि कहती हैं कि "खेल तो है ही नहीं. सीधा चलो तो सीधा" जिसके बीच में हिंदुस्तानी भाऊ टोकते हुए कहते हैं कि तुम्हारी खुद की एक दुनिया है और जब भी आवश्यकता होती है तब तुम गेम खेल लेती हो.

वह आगे रश्मि को बताता है कि "तू टॉप 5 में हैं और गेम खेलते समय गुस्सा नहीं होना. ये समाज की मैं टेको गुरुमंत्र दे रहा हूं बड़ा भाई समजके. जितना वो सामने वाला छिड़ेगा उतना वो पागल होगा और पागल पन में कुछ भी करेगा पर गुस्सा नहीं करना."

खैर, ऐसा लग रहा है कि हिंदुस्तानी भाऊ के रूप में रश्मि को घर के अंदर गुरु मिल गया है. 

(Source: VOOT)

Recommended

Loading...
Share