कुमार सानू ने बेटे पर किया पलटवार, कहा- 'वह अपना नाम जान कुमार सानू के बजाय जान रीता भट्टाचार्य लिखें'

By  
on  

जान कुमार सानू ने हाल ही में कुमार सानू के 'परवरिश' वाले बयान पर रियेक्ट किया और बताया था कि उनके पिता परिवार के साथ नहीं रहते थे, न ही वह अपने बच्चों से मिलते थे. ऐसे में पलटवार करते हुए दिग्गज गायक ने जान के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है. 

ऐसे में एक जाने माने वेब पोर्टल को दिए इंटरव्यू में कुमार सानू ने स्पष्ट किया कि वह अपने बेटों से नहीं मिल सकते क्योंकि उनकी कस्टडी उनकी एक्स-वाइफ रीता भट्टाचार्य के पास थी. वह कहते हैं, "सबसे पहले तो सभी लोग वो वीडियो देख‍िए. मैंने उसमें कहीं भी परवरिश शब्‍द नहीं बोला है. मैंने ये कहा कि नालायक बातें नहीं करनी चाहिए. नालायक बातें, मैंने उसको नालायक नहीं बोला. दूसरी बात कि महाराष्‍ट्र में रह रहे हैं तो मराठी और महाराष्‍ट्र का सम्‍मान करना चाहिए और यह सीख उसे देनी चाहिए थी. मैंने यही कहा था. अब जब वह कह रहा है कि उसके पिता ने उसके लिए कुछ नहीं किया तो मुझे दुख पहुंचा है."

(यह भी पढ़ें: कुमार सानू को लेकर बोले बेटे जान, कहा- 'पिता हमारी जिंदगी का हिस्सा कभी नहीं, किसी को ये अधिकार नहीं कि वह मेरी परवरिश पर सवाल उठाए')

कुमार सानू ने तब जान को अपना नाम जान कुमार सानू के बजाय जान रीता भट्टाचार्य के रूप में लिखने के लिए कहा.

कुमार सानू कहते हैं कि, "यदि वह कह रहा है कि पिता ने कुमार सानू नाम देने के अलावा कुछ नहीं किया, तो शायद वह तब बहुत छोटा था और इसलिए उसे कुछ पता नहीं है. लेकिन जब 2001 में मेरा उसकी मां से तलाक हुआ तो उसकी मम्‍मी को जो भी चाहिए था, मैंने वो सब दिया. रीटा भट्टाचार्य ने कोर्ट के जरिए जो भी मांग की,‍ फिर चाहे वह मेर आश‍िकी बंगला ही क्‍यों न हो, मैंने वो भी दिया. साथ ही मेर बेटा मुझसे मिलता रहा है, लेकिन बिग बॉस के बाद अब मैं उससे नहीं मिलूंगा. वो चाहे तो भी नहीं."

कुमार सानू ने आगे कहा, 'इसके बाद जान ने मुझसे रिक्‍वेस्‍ट की कि बाबा हमको शो में लो तो हमने शो में लिया उनको, बाबा हमको थोड़ा सा म्‍यूजिक डायरेक्‍टर से, प्रड्यूसर से मिला दो, तो मैं उनको महेश भट्ट, रमेश तौरानी और कई लोगों के पास लेकर गया."

कुमार सानू यह भी कहते हैं कि, 'अब आप ही बताइए कि क्‍या नाम के अलावा मैंने उसे कुछ नहीं दिया, उसके लिए कुछ नहीं किया. आज वह इतना बड़ा हो गया, कैसे हो गया? वह तब बहुत छोटा था, उनके घर में तब कोई कमाने वाला भी नहीं था, इसलिए जब मैं अब यह सब सुनता हूं तो मुझे बुरा लगता है."

सानू कहते हैं, "अभी भी जान ने मुझसे एक बार भी नहीं पूछा. देख‍िए, प्‍यार एक तरफा नहीं होता और एक हाथ से ताली नहीं बजती. उनको जब भी कुछ चाहिए होता है, वो मुझसे प्‍यार से बात करते हैं. अब जब बिग बॉस आया तो वो अलग बात कर रहे हैं. कभी मैं उनके लिया अच्‍छा हो जाता हूं, वह खुद को भाग्‍यशाली मानते हैं कि कुमार सानू उनके प‍िता हैं, फिर बोलते हैं कि डैडी बहुत खरब है. 60 साल से अध‍िक की उम्र में अब यह सब सुनना पड़ रहा है."

आखिर में वह कहते हैं, "मैं दूसरी शादी के बाद अपने परिवार के साथ 20 साल से शांति से रह रहा था. मैं अब इन सब में दोबारा नहीं पड़ना चाहता. यदि उन्‍हें वाकई लगता है कि मैंने उनके लिए कुछ नहीं किया, तो मैंने अब सबकुछ सार्वजनिक तौर पर कह दिया है. मेरे पास इन बातों के सबूत भी हैं. तलाक के कागजात पर भी सबकुछ लिखा है, मैंने जो भी दिया है." इतना ही नहीं उन्होंने अपनी बात आगे पूरी करते हुए कहा है, "मैंने लोगों से मिलने में उसकी मदद की, उसे अपने शो में लिया, फिर भी यदि वह कहते हैं कि मैंने उनके लिए कुछ नहीं किया तो एक पिता होने के नाते वह मुझे प्‍यार करे या न करे, मैं हमेशा यही चाहूंगा कि वह बड़े सिंगर बनें. मेरा आशीर्वाद उनके साथ है और हमेशा रहेगा. वह भले चाहे मेरे बारे में कितना भी बुरा बोले। मैंने सब कह दिया है, जो भी कहना था, मैं अब थक गया हूं."

(Source: Bombay Times)

Recommended

Loading...
Share