कॉमेडियन कपिल शर्मा को 5.70 करोड़ रुपये का धोखा देने के मामले में कार डिजाइनर दिलीप छाबड़िया की बढ़ी कस्टडी

By  
on  

7 जनवरी को, कॉमेडियन कपिल शर्मा को दिलीप छाबड़िया के जालसाजी के मामले में उनके बयान के लिए मुंबई पुलिस की अपराध शाखा द्वारा बुलाया गया था. ऐसे में कपिल ने मुंबई अपराध शाखा कार्यालय में अपना बयान दर्ज कराया. कपिल ने अपने बयान में खुलासा किया कि उन्होंने दिलीप को अपनी वैनिटी वैन के लिए पैसे दिए थे, लेकिन बाद में उन्होंने पुलिस के साथ धोखाधड़ी और जालसाजी का मामला दर्ज किया क्योंकि छाबड़िया ने उनका काम पूरा कर के नहीं दिया.

अब कम से कम 40 करोड़ रुपये के कार फाइनेंस और जालसाजी के मामले में मुंबई पुलिस की अपराध शाखा द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद दिलीप की हिरासत को मुंबई मजिस्ट्रेट अदालत ने बढ़ा दिया है. दिलीप से अब एजेंसी द्वारा कपिल की शिकायत के संबंध में पूछताछ की जाएगी. कपिल ने दावा किया कि दिलीप द्वारा उन्हें 5.5 करोड़ रुपये का चूना लगाया गया है. जांच अधिकारी रियाज़ काज़ी ने आज अदालत में डेवलपमेंट की पुष्टि की. 

(यह भी पढ़ें: कार डिजाइनर दिलीप छाबड़िया से धोखाधड़ी के मामले में जांच के लिए क्राइम ब्रांच ने कपिल शर्मा को बुलाया, पूछताछ के लिए पहुंचे कॉमेडियन )

हालांकि, वकील वागीश मिश्रा ने छबारिया की याचिका का विरोध करते हुए जोर देकर कहा कि दिलीप के साथी के बयान पर नई FIR दर्ज की गई है, जो उन पर दबाव डाल रही है कि वह उनकी टर्म्स और कंडीशंस पर सहमत हों. मिश्रा ने कहा है, "हम इसका विरोध कर रहे हैं. 15 और FIR होंगे. यह एक नागरिक विवाद है. आरोपी को परेशान करने के लिए इसे क्रिमिनल केस में बदल दिया गया है. अभियोजन पक्ष उन लोगों की मदद कर रहा है जो हमें समझौते की उनकी शर्तों से सहमत होने के लिए कह रहे हैं."

दिलीप ने लगभग सभी ए-लिस्टर हस्तियों के लिए कारों को डिजाइन किया है. उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 465, 467, 468, 471, 120 (बी) और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है. उनकी कार को भी पुलिस ने जब्त कर लिया है. 19 दिसंबर को उनके खिलाफ अपराध दर्ज होने के बाद उन्हें MIDC में एपीआई सचिन वज़े और उनकी टीम ने गिरफ्तार किया था.

Recommended

Loading...
Share