छपरा के प्रवासी मजदूरों ने सोनू सूद को किया सलाम, बनाया अभिनेता का सैंड आर्ट 

By  
on  

देश भर के प्रवासी मजदूरों की मदद करने के लिए सोनू सूद ख़बरों में हैं. इसके लिए नेता से लेकर अभिनेता तक हर कोई सोनू के काम के लिए उनकी सराहना कर रहा है. गवर्नर ऑफ़ मुंबई ने भी सोनू की तारीफ़ की. सैंड आर्टिस्ट अशोक ने सरयू घाट पर सोनू सूद को अनोखे अंदाज में सलाम पेश किया है.

अशोक का कहना है, सोनू सूद के लिए तो हम कुछ भी करें कम है. उन्होंने मानवता के लिए जो किया है, हम सभी उनका ऋण कभी नहीं भर पाएंगे पर, उनके प्रति सम्मान तो प्रकट कर ही सकते हैं. मैं सैंड आर्टिस्ट हूं तो बालू पर उनका चित्र उकेर कर उन्हें सलाम दे रहा हूं. जैसे देशभर के लोग अलग-अलग तरह से उन्हें सलाम कर रहे हैं.

सोनू सूद ने कहा, 'मैं तब तक काम करूंगा जब तक हर मजदूर अपने घर नहीं पहुंच जाता'

 

 

 
 
 
बता दें,कुमार बृजेश नाम के शख्स ने ट्विटर पर सोनू के लिए कविता लिखी. किसी बेटे को अपनी मां से दूर रहने नहीं दूंगा. अंतिम प्रवासी घर न पहुंचे तक रुकूंगा नहीं. वक्त आने पर बन्दे ने दिखाई हीरो गिरी. सलाम है भाई सोनू सूद, ऐसी देखी न दरियादिली. सियासतदारों ने अभियान चलाये पासपोर्ट घर लाने को. यहां राशन कार्ड दर- बदर था पहुंचा न सके ठिकाने को.'
 
बृजेश ने एक तस्वीर भी शेयर की है, जिसमें द्रोपदी के चीरहरण का दृश्य है. इस शख्स ने धृतराष्ट्र को केंद्र सरकार बताया जो बैठ के अन्याय को देख रहे हैं. बाकी लोगों को राज्य सरकार बताया जो आंख खोलकर तमाशा देख रही है पर कुछ नहीं कर रही है. दुशासन को कोरोना और द्रोपदी को मजदूर बताया, जिसके यह अन्याय हो रहा है. जिस तरह द्रोपदी की लाज श्री कृष्ण बचाते है उसी तरह सोनू सूद को इस शख्स ने श्री कृष्णा बताया है.
 
 

 

 

(Source: Twitter)

 

Recommended

Loading...
Share