अमित साध को 16 साल की उम्र में आया था सुसाइड का ख्याल, कहा- 'कमजोरी को स्वीकार करने के लिए साहस की जरूरत होती है'

By  
on  

एक्टर अमित साध ने खुलासा किया है कि उन्होंने 16 साल की उम्र में आत्महत्या के बारे में सोचा था, लेकिन आखिरकार उन्होंने खुद को इससे बाहर निकाल लिया. उन्होंने कहा कि यह कमजोरी या असफलता स्वीकार करने के लिए एक 'ताकत का संकेत' था, और एक अच्छा  वातावरण परेशान लोगों की मदद कर सकता है.

एक जाने माने वेब पोर्टल से इंटरव्यू में एक्टर ने खुलासा किया है कि जब वह टीनएज में थे तब उन्हें सुसाइड का ख्याल आया था, एक्टर कहते हैं, "मुझे लगता है कि इसके लिए साहस लगता है. मुझे लगता है कि यह ताकत की निशानी है जब आप स्वीकार करते हैं कि आप गलत, कमजोर या असफल हैं. केवल एक चीज है, आपको अपने परिवेश और अपने आस-पास के लोगों के लिए भाग्यशाली और धन्य होना चाहिए, जो आपके टूटने के बारे में जानने के बाद भी आपको नहीं छोड़ते."

(यह भी पढ़ें: अमित साध ने टीवी इंडस्ट्री में बैन होने के कारण किया था फिल्मों में काम करने का फैसला, एक्टर ने खुद किया खुलासा)

अमित कहते हैं कि "हमें समाज में एक दूसरे और खुद में बदलाव लाने की जरूरत है, जब हम इस तरह की स्थिति पाते हैं, तब क्या हम उन लोगों की मदद करते हैं जज करने के बजाय और असल में हम उन्हें क्रूस पर चढ़ाने हैं और उनके लिए जीवन को अधिक कठिन बना देते हैं."

आपको बता दें कि अमित ने 2010 में राम गोपाल वर्मा की फिल्म 'फून 2' से अपना बॉलीवुड डेब्यू किया था. इसके अलावा उन्होंने 'काई पो छे', 'गुड्डू रंगीला', 'सुल्तान', 'सरकार 3' और 'गोल्ड' जैसी कुछ बड़ी फिल्मों में भी काम किया. फिलहाल की बात करें तो उन्हें हमने हाल ही में OTT प्लेटफॉर्म पर रिलीज हुई 'ब्रीद: इन द शैडो' फिल्म में देखा, जिसमे उन्होंने अभिषेक बच्चन और नित्या मेनन के साथ स्क्रीन शेयर किया है.

इसके अलावा एक्टर बहुत जल्द तिग्मांशु धूलिया की क्राइम ड्रामा 'यारा' में विद्युत जामवाल, विजय वर्मा, श्रुति हासन और संजय मिश्रा के साथ भी नजर आने वाले हैं. यह शो 30 जुलाई को डायरेक्ट-टू-डिजिटल रिलीज के लिए तैयार है.

(Source: Bollywood Hungama)

Recommended

Loading...
Share