आदित्य चोपड़ा ने YRF की 50 वीं वर्षगांठ पर लिखा नोट, कहा- 'मेरे पिता यश चोपड़ा को अंदाजा नहीं था कि छोटे से कमरे से शुरू हुई कंपनी सबसे बड़ी फिल्म स्टूडियो बन जाएगी'

By  
on  

हर साल 27 सितंबर को, बॉलीवुड फिल्ममेकर यश चोपड़ा को उनकी जयंती पर याद  किया जाता है. हालांकि, यह साल सबसे खास है. 1970 में यश चोपड़ा द्वारा बॉलीवुड के सबसे बड़े और प्रतिष्ठित प्रोडक्शन हाउस यशराज फिल्म्स की स्थापना की थी. ऐसे में आज, यह 50 साल पूरे कर रहा है और इस अवसर को खास बनाते हुए और अपने पिता को उनकी कड़ी मेहनत और दृढ़ इच्छाशक्ति के लिए याद करते हुए, YRF के वर्तमान प्रमुख आदित्य चोपड़ा ने दिल छू लेने वाला नोट लिखा है. 

YRF मैं अपने सोशल मीडिया हैंडल पर एक नोट शेयर करते हुए आदित्य के तरफ से लिखा है, " हमेशा से अपने टैलेंट और हार्ड वर्क के साथ अपने सपने के प्रति दृढ़ विश्वास रखते थे. एक रचनात्मक व्यक्ति के रूप में खुद को और अपनी कला को यशराज फिल्म्स को दे दिया. वी शांताराम जो राजकमल स्टूडियो के मालिक थे, ने उन्हें अपने ऑफिस के लिए अपने स्टूडियो में छोटा सा कमरा दिया था. मेरे पिता को तब पता नहीं था कि छोटे कमरे में शुरू की गई कंपनी 1 दिन इंडियन फिल्म इंडस्ट्री की सबसे बड़ी फिल्म कंपनी बनकर उभरेगी."

(यह भी पढ़ें: PeepingMoon Exclusive: YRF की अगली फिल्म में लीड रोल निभाएंगी परिणीति चोपड़ा, 'सुई धागा' फेम शरत कटारिया करेंगे डायरेक्ट ?)

जैसा की आज स्टूडियो 50 साल पूरा करता है, आदित्य ने लिखा है, "आज, हम यश राज फिल्म्स के 50 वें वर्ष में एंटर हुए हैं. इसलिए, जैसा कि मैंने इस नोट को लिखा है, मैं यह पता लगाने की कोशिश कर रहा हूं कि वास्तव में इस 50 साल की सफलता का रहस्य क्या है? क्या कंपनी 50 वर्षों तक फलती-फूलती है?" यश चोपड़ा की रचनात्मक प्रतिभा? उनके 25 वर्षीय बेटे का साहसी विजन? या यह सिर्फ लक है ? या फिर इन में से कुछ भी नहीं है. पिछले 50 वर्षों से प्रत्येक YRF फिल्म में काम करने वाले लोग. मेरे पिताजी एक कवि की पंक्ति के साथ अपनी यात्रा का वर्णन करते थे- मैं अकेले चला था जानिब-ए-मजिल मगर, लोग साथ आते गए और कारवां बनता गया. इसे पूरी तरह समझने में मुझे 25 साल लग गए. YRF 50 के रहस्य हैं लोग ... "

(Source: Twitter)

Recommended

Loading...
Share