रिलीफ फंड्स में सहयोग नहीं करने पर ट्रोल करने वालों को अमिताभ बच्चन ने दिया करारा जवाब, बताया- 'कोरोना से अनाथ हुए 2 बच्चों को लिया है गोद'

By  
on  

देश में कोरोना से हाहाकार मचा हुआ है. ऐसे में बॉलिवुड सेलेब्रिटीज अपने-अपने स्तर पर लोगों की मदद में जुटे हुए है. वहीं कुछ सेलेब्स बिना किसी को बताए बिना शोर के अपना काम करते है.  जिससे कई बार कलाकार को ट्रोल होना पड़ जाता है. वहीं इसी के चलते महानायक अमिताभ बच्चन को कई बार ट्रोल होना पड़ा. वहीं अब अमिताभ ने ट्रोल करने वालो को करारा जवाब देते हुए बताया है कि उन्होंने कोरोना संकट में कैसे किसकी मदद की है. बिग बी ने अपनी चैरिटी की लिस्ट शेयर करते हुए दिल को छू लेने वाला मैसेज लिखा है. 

अमिताभ बच्चन ने अपने ब्लॉग में लिखा, 'हां, मैं चैरिटी करता हूं लेकिन मेरा विश्वास है कि इसके बारेमें बात नहीं की जानी चाहिए...यह शर्मिंदा करने वाला होता है. मेरे परिवार ने पिछले कुछ सालों में जो भी चैरिटी का काम किया है उसे हमेशा छिपाकर रखा गया है और सोशल मीडिया पर उसका शोर नहीं मचाया है. इस बारे में केवल वही व्यक्ति जानते हैं जिन्हें मदद मिली है.

अमिताभ बच्चन ने दिल्ली के गुरुद्वारा कोविड केयर सेंटर को डोनेट किए 2 करोड़ रुपये; कोरोना में सोनू सूद को 24 घंटे में मिल रही है इतनी मदद की रिक्वेस्ट


अमिताभ ने बताया कि उन्होंने अपने खर्च पर किसानों के कर्ज माफ कराए हैं. उन्होंने यह भी बताया कि अभिषेक और श्वेता ने पुलवामा आतंकवादी हमले में मारे गए शहीदों के परिवारों की मदद के लिए योगदान दिया था. अमिताभ ने बताया कि पिछले साल उन्होंने लगभग 4 लाख लोगों को एक महीने तक खाना खिलाया था. उन्होंने बताया कि वह शहर में लगभग 5 हजार लोगों को दोनों टाइम का खाना रोजाना खिला रहे हैं. इसके अलावा पुलिस हॉस्पिटल्स और फ्रंट लाइन वॉरियर्स के लिए हजारों की संख्या में मास्क और पीपीई किट उपलब्ध कराई हैं. साथ ही अमिताभ ने प्रवासी मजदूरों को खाना खिलाने वाली सिख कमिटी को भी डोनेट किया है.

प्रवासी मजदूरों की मदद करने वाले के बारे में अमिताभ ने लिखा, 'जब प्रवासी पैदल अपने घरों की ओर निकल पड़े थे तब उन्हें सैकड़ों चप्पल और जूते उपलब्ध कराए गए थे. उनके पास जाने का साधन नहीं था तो खाने और पानी के साथ यूपी और बिहार के लिए 30 बसें बुक कराई गई थीं. मुंबई से यूपी के लिए पूरी ट्रेन बुक कराई थी जिसमें 2800 प्रवासी गए थे और उसका पूरा खर्च मैंने किया था. तुरंत 3 इंडिगो एयरलाइन के हवाई जहाज बुक किए गए थे जिसमें हर फ्लाइट में 180 प्रवासी लोगों को यूपी, बिहार, राजस्थान और जम्मू-कश्मीर पहुंचाया गया था.'


अमिताभ ने बताया कि उन्होंने कोरोना से प्रभावित लोगों के लिए एक पूरा डाइग्नोस्टिक सेंटर डोनेट किया है जहां गरीब लोगों को मदद की जाएगी. इसके साथ ही उन्होंने एमआरआई मशीन, सोनोग्राफिक स्कैन इक्विपमेंट भी दान किए हैं। उन्होंने बताया है कि बीएमसी और म्युन्सिपल हॉस्पिटल्स के लिए 20 वेंटिलेटर का ऑर्डर दिया गया है जिसमें से 10 आज ही आ रहे हैं.


अमिताभ ने आगे बताया है कि उन्होंने 2 अनाथ बच्चों को गोद लिया है जिनके पैरंट्स की मौत कोरोना वायरस के कारण हो गई थी. इन दोनों बच्चों को हैदराबाद के एक अनाथालय में रखा जाएगा. जब तक वे बच्चे अपनी स्कूल पूरा नहीं कर लेते तब तक उनके रहने-खाने और पढ़ाई का पूरा खर्च उठाया जाएगा. अगर वे पढ़ाई में होशियार निकले तो अमिताभ आगे हायर एजूकेशन का भी खर्च उठाएंगे.'

Recommended

Loading...
Share