गायक और भाजपा के पूर्व सांसद बाबुल सुप्रियो ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से हटाए जाने के कुछ दिनों बाद राजनीति को कहा अलविदा

By  
on  

पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो ने शनिवार को पॉलिटिक्स को अलविदा कह दिया है. जी हां, सिंगर-पॉलिटिशियन ने अपने फेसबुक पर एक लम्बा पोस्ट शेयर करते हुए इस खबर की जानकारी दी है. उन्होंने इसमें यह लिखा है कि वह जल्द अपना सरकारी आवास ख़ाली कर देंगे और साथ ही लोकसभा सांसद के पद से भी इस्तीफ़ा दे देंगे.

उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा है, "चलता हूं, अलविदा, अपने माँ-बाप, पत्नी, दोस्तों से बात करके मैं कह रहा हूं कि मैं अब (राजनीति) छोड़ रहा हूं. मैं किसी राजनीतिक दल में नहीं जा रहा हूं. टीएमसी, कांग्रेस, सीपीआई (एम)...किसी ने मुझे नहीं बुलाया है. मैं कहीं नहीं जा रहा हूं. मैं एक टीम के साथ रहने वाला खिलाड़ी हूं. हमेशा सिर्फ़ एक टीम मोहन बागान का समर्थन किया है. सिर्फ़ एक पार्टी बीजेपी (पश्चिम बंगाल) के साथ रहा हूं. बस यही है, अब चलता हूं."

(बाबुल सुप्रियो ने दीपिका पादुकोण के JNU दौरे पर ट्रोल करने वालो को लगाई फटकार, खुद को बताया एक्ट्रेस का बड़ा फैन)

इस्तीफा देने की वजह पर बात करते हुए वह लिखते हैं, "अगर कोई पूछे कि क्या मंत्री पद हाथ से जाना राजनीति छोड़ने से जुड़ा हुआ है तो ये एक हद तक सच है. लेकिन चुनाव शुरू होने से पहले से ही मेरे राज्य प्रभारियों से मतभेद थे.मैं कहना चाहूंगा कि चुनाव से पहले से ही मेरे और पार्टी नेतृत्व में काफ़ी विरोधाभास था. मुझे लगा कि ये सब सामान्य है लेकिन अक्सर इन घटनाओं को उठाया जा रहा था. इसके लिए कुछ लोग ज़िम्मेदार थे और मैं भी उतना ही ज़िम्मेदार था. मैंने भी एक पोस्ट लिखी थी, जिसे पार्टी अनुशासन के उल्लंघन के रूप में देखा जा सकता है. लेकिन ये स्पष्ट था कि शीर्ष नेताओं में वैचारिक मतभेद सिर्फ़ पार्टी के लिए ही नुक़सानदायक नहीं था बल्कि ज़मीनी कार्यकर्ताओं का मनोबल तोड़ने के लिए भी काफ़ी था."

वह आगे लिखते हैं, "आज पार्टी में कई नए और शानदार नेता हैं. कुछ युवा हैं और कुछ अनुभवी हैं. इसमें दो राय नहीं हैं कि उनके मार्गदर्शन में पार्टी बंगाल में बहुत आगे जाएगी. मुझे ये कहने में कोई गुरेज़ नहीं है कि आज पार्टी के लिए कोई एक शख़्स ज़्यादा अहमियत नहीं रखता. और ये पूरी तरह स्पष्ट है. मुझे लगता है कि ये सही फैसला होगा."

बॉलीवुड के लोकप्रिय गायक बाबुल पिछले सात वर्षों से प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के तहत केंद्रीय मंत्रिपरिषद का हिस्सा थे. आसनसोल से दो बार के सांसद को पिछले महीने एक बड़े फेरबदल के तहत केंद्रीय मंत्रिमंडल से हटा दिया गया था.

(Source: Facebook) 

Recommended

Loading...
Share