सोनू सूद बोले, 'मेरे पेपरवर्क से टैक्स अधिकारी भी थे खुश', किया खुलासा- ठुकरा चुकें हैं दो पार्टियों की तरफ से राज्यसभा की सीट का ऑफर

By  
on  

पिछले साल कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों की मदद करके सुर्खियों में आए बॉलिवुड एक्टर सोनू सूद इन दिनों इनकम टैक्स की चोरी करने का आरोपों के लेकर सुर्खियों में है. आयकर विभाग ने सोनू के 6 ठिकानों पर छापेमारी करने के बाद सोनू पर 20 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी का आरोप लगाया है. वहीं अब एक इंटरव्यू में सोनू ने कहा है कि टैक्स अधिकारी उनके जवाब और कामों से संतुष्ट थे. इसी के साथ एक्टर ने खुलासा किया कि वे दो पार्टियों की तरफ मिले राज्यसभा की सीट के ऑफर को ठुकरा चुके है. 

एक लीडिंग वेबसाइट से बात करते हुए सोनू ने कहा, 'उन्होंने जो भी डॉक्यूमेंट्स और डीटेल्स मांगे, हमने दिए. उन्होंने जो भी सवाल पूछे, मैंने उनका जवाब दिया. मैंने अपना काम किया और उन्होंने अपना. उन्होंने जो भी सवाल उठाए, हमने उन सभी का डॉक्यूमेंट्स के साथ जवाब दिया. यह मेरी ड्यूटी है और हम अभी भी उन्हें डॉक्यूमेंट्स दे रहे हैं और यह प्रक्रिया का हिस्सा है.' 

IT विभाग की कार्रवाई के बाद बोले सोनू सूद, कहा , 'हमेशा अपने साइड की स्टोरी बताने की जरुरत नहीं होती, समय बता देगा'

सोनू सूद का दावा है कि टैक्स अधिकारी भी उनके पेपरवर्क से खुश थे और उन्होंने माना कि सोनू सूद ने अच्छा काम किया है। सोनू ने कहा, 'मैंने उनसे पूछा- आपने कभी ऐसा डॉक्यूमेंटेशन, डीटेल्स और पेपरवर्क देखा है? उन्होंने कहां- नहीं. उन्हें जो कुछ दिखा उससे वे खुश थे. उन्होंने कहा कि छापेमारी में इन 4 दिन उन्हें कोई दिक्कत नहीं आई.'

अपने अकाउंट में अवैध विदेशी पैसा आने के आरोपों पर सोनू ने कहा कि यह सारा पैसा सीधे लोगों की मदद के लिए जा रहा था और उन्होंने एक भी डॉलर अपने पास नहीं रखा है. सोनू ने कहा, 'मेरे पास इस समय 54 हजार अनरीड मेल, वॉट्सऐप, फेसबुक, ट्विटर पर हजारों मेसेज है. मुझे 18 करोड़ खर्च करने में 18 घंटे भी नहीं लगते लेकिन मैं इस बात को सुनिश्चित करता हूं कि एक-एक पैसे का सही इस्तेमाल हो और वह जरूरतमंद आदमी तक पहुंचे.'


इसी के साथ सोनू सूद ने खुलासा किया है कि उन्हें दो पार्टियों की तरफ से राज्यसभा की सीट ऑफर की गई थी लेकिन उन्होंने इसे ठुकरा दिया. दरअसल अवैध रूप से विदेशी धन प्राप्त होने के आरोप पर सोनू ने कहा, मैंने अपने खाते में एक भी डॉलर नहीं लिए हैं, ये पैसा सीधे जरूरतमंदों तक पहुंचा है.कुछ पार्टियों ने इस छापेमारी को आम आदमी पार्टी (आप) के साथ हुए हालिया सहयोग से जोड़कर देखा है, इस सवाल पर सोनू कहते हैं 'मैं आप के साथ जुड़ने नहीं जा रहा हूं. आप मुझे किसी भी राज्य में बुला लीजिए- कर्नाटक, गुजरात। मैं तुरंत जाऊंगा. मैंने सभी राज्यों में काम किया है- जिन राज्यों में बीजेपी, कांग्रेस की सरकार है.'
(Source: NDTV)

Recommended

Loading...
Share