Exclusive: 'ब्योमकेश बख्शी' स्टार रजित कपूर के मुताबिक, 'शो की सादगी इसकी यूएसपी है'

By  
on  

कोरोना वायरस के कारण घर के अंदर रहने के लिए मजबूर लोगों के एंटरटेनमेंट के लिए दूरदर्शन अपने गोल्डन एरा शो को वापस लाने के लिए पूरी तरह से तैयार है. रामायण, महाभारत जैसे शो के बाद, सर्कस, देख भाई देख, चाणक्य सहित कई शो भी डीडी पर प्रसारित होने लगे हैं. हालांकि,  एक शो जिसने सभी का ध्यान आकर्षित किया है, वह है, बहुचर्चित जासूसी शो ब्योमकेश बक्शी जिसे असल में साल 1993-1997 के बीच प्रसारित किया गया था.

इस शो में रजित कपूर ने एक मध्यम आयु वर्ग के कोलकाता स्थित बंगाली जासूस का किरदार निभाया था. हालांकि, शो को रातों-रात सफलता मिली थी और ऐसा क्यों नहीं होता? शो की कमाल की स्क्रिप्ट और रजित की शानदार एक्टिंग ने उसमे जान जो डाल दी थी. लोग उस समय में ब्योमकेश के मुश्किल से मुश्किल केस सुलझाने के तरीके को पसंद किया करते थे, इतना ही नहीं उनके फैंस को लगता था कि वह कुछ भी कर सकते हैं.   

ओटीटी पसंद करने वाले जेनेरशन को इससे लगाओ महसूस होगा, यह पूछे जाने पर PeepingMoon.com के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में एक्टर ने क्या कहा चकिए आपको बताते हैं.

प्र. ब्योमकेश बख्शी को फिर से प्रसारित करने के दूरदर्शन के फैसले के बारे में आपका क्या ख्याल है?

उ: पिछले 25 वर्षों में बहुत बार इसे दिखाया जा चूका है. मुझे लगता है, यह अब लॉकडाउन के कारण ज्यादा इफेक्टिव होगा. जाहिर है जिन लोगों ने इसे खुद देखा है, उनके बच्चे भी इसे देखेंगे.

प्र: आपको लगता है कि नई पीढ़ी इससे जुड़ेगी?

उ: इसे कनेक्ट करना काफी आसान है. पहली बात, यह है कि ये एक थ्रिलर शो है, दूसरी की इसे बेहद सिंपल तरीके से बनाया गया है, जिससे कोई भी आसानी से जुड़ सकता है. सबसे पहली बात कि इसकी खासियत ही यह है कि इससे 6 साल की उम्र से लेकर 86 साल की उम्र तक के लोग खुद को जोड़ सकते हैं.

प्र: ओटीटी प्लेटफार्मों के युग में, ब्योमकेश बख्शी जैसे पुराने टीवी शो को वापस लाना सही है की नहीं?

उ: क्यों नहीं? इसके राइट्स दूरदर्शन के पास है और यह उनपर निर्भर करता है कि वह अन्य शो जैसे बनियाड, खंडन को ओटीटी पर प्रसारित करते है या फिर नहीं.

प्र: इस किरदार पर कई फ़िल्में और शो बन चुकी हैं. लेकिन कोई भी आपके शो के लेवल को छू नहीं पाया. इसपर आपका क्या कहना है?

उ:  हो सकता है क्योंकि यह इतना सिंपल था, जिसकी वजह से लोग इससे जुड़ाव महसूस करते थे.

बता दें कि यह शो मशहूर शरदिंदु बंदोपाध्याय की किताब पर आधारित है. जिसे बसु चटर्जी ने डायरेक्ट किया था. शो में केके रैना ने रजित के दोस्त और असिस्टेंट का किरदार निभाया था.

(Transcrited By: Nutan Singh)
(Source: Peepingmoon)

Recommended

Loading...
Share