Exclusive: 'क्यूंकि सास भी कभी बहु थी' को- स्टार्स के बारे में बात करते हुए प्राची शाह ने कहा, 'हमारा व्हाट्सएप ग्रुप है और हम सब जुलाई में डिनर के लिए मिलते हैं'

By  
on  

'क्यूंकि सास भी कभी बहुत बहु थी' में पूजा वीरानी का किरदार निभा चुकीं प्राची शाह ने छोटे पर्दे पर कई बेहतरीन किरदार निभाए हैं. बीते सालों में वो कई अच्छे फ़िल्मी प्रोजेक्ट्स का हिस्सा रह चुकी हैं. वो 'एबीसीडी 2, मुल्क और जुड़वा 2' में नजर आ चुकी हैं. अक्षय कुमार की फिल्म 'लक्ष्मी' में वो नेगेटिव रोल निभा चुकीं हैं. पीपिंगमून के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में प्राची ने अक्षय के साथ काम करने और एडल्ट कैरेक्टर की मां का किरदार निभाने पर बात की. 

1. एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में आपको दो दशक हो गए हैं और छोटे पर्दे पर आपने बहुत सारे अच्छे किरदार निभाए हैं क्या कहना चाहेंगी आप इसके बारे में ?

जवाब- मैंने जो- जो फिल्में की है लॉकडाउन में  एक तो मैं मैडॉक की फिल्म है जिसका है, नाम अभी तय नहीं हुआ है लेकिन उसकी कास्ट बहुत ही बढ़िया है, राजकुमार राव है, कृति सेनन है, रत्ना पाठक है और नए डायरेक्टर है अभिषेक जैन जी .यह बहुत ही अलग स्क्रिप्ट है,यह एक फैमिली फिल्म है, जिसकी शूटिंग हमने चंडीगढ़ में लगभग एक महीने तक की. भरे लॉकडॉन में जहां पर इसकी उम्मीद नहीं थी लेकिन भगवान की दया से इस फिल्म के साथ 2020 का आखिर मेरे लिए बहुत अच्छा गया क्योंकि जब उम्मीद ही नहीं थी तब ये फिल्म शुरू हुई. इसके बाद मैने एक और फिल्म की है, 'ओम: द बैटल विदइन', अच्छी स्टारकास्ट है नए निर्देशक है तो बहुत ही अलग और अच्छा एक्सपीरियंस रहा है. पहली बार इन सबके साथ काम करने का मौका मिला है जो पहले कभी नहीं किया था. मेरे लिए ये बहुत दिलचस्प फेज रहा है क्योंकि लगभग 15 साल तक मैने टीवी किया है. हमेशा से इच्छा थी कि कुछ अलग करने का मौका मिले. टीवी ने मुझे अलग अलग किरदार दिए है और मैं बहुत खुश हूं कि फिल्मों में मुझे अलग अनुभव मिल रहा है और उम्मीद करती हूं कि हमेशा मिलता रहेगा.

2. आपने सालों तक स्क्रीन पर पॉजिटिव रोल निभाए है और लक्ष्मी में आपने नेगेटिव रोल निभाया था, इस किरदार को एक्सेप्ट करते समय किसी तरह की हिचकिचाहट थी मन में ?  

जवाब- हां, जरूर थी क्योंकि जब मेकर्स ने मुझे कॉल किया तब मैं थोड़ी सी कंफ्यूज थी. मैने उनसे पूछा भी कि आपने सही प्राची को फोन किया है, उनकी सोच यह थी कि उन्हें एक स्वीट और अनप्रिडिक्टेबल सा फेस चाहिए था. वो नही चाहते थे कि एक टिपिकल नेगेटिव लुक हो तो मैंने कहा अगर आप कनविंस है तो मैं भी कनविंस हूं.मेरी बड़ी इच्छा थी अक्षय सर के साथ काम करने की. मैं हमेशा से उनकी फैन रही हूं. इसलिए मैने ज्यादा नहीं सोचा, अगर टीम को लग रहा है तो सही होगा कुछ.

 

3 'लक्ष्मी' में ऑफ स्क्रीन सबके साथ कैसी बॉन्डिंग थी ?

जवाब- बहुत अच्छी थी, जब भी लंच ब्रेक होता था हम साथ में खाना खाते थे.अक्षय सर हमेशा घर का खाना लाते हैं और सबके साथ शेयर करते हैं. बहुत कुछ सीखने मिला है. मेरे लिए सबसे बड़ी बात यह थी कि मुझे अक्षय सर के साथ काम करने का मौका मिला था फिर चाहे दो सीन ही क्यों न हो, यह मायने रखता है कि आप इतनी बड़ी फिल्म का हिस्सा हैं. हर अपॉर्चुनिटी चाहे छोटी हो या बड़ी हो, कुछ न कुछ सिखाकर जाती है.

4. चैलेंजिंग किरदार निभाना हर आर्टिस्ट का ख्वाब होता है जिसके लिए उन्हें लोग सालों तक याद रखा जाए, आपके लिए वह किरदार आ गया है या आना बाकी है ?

जवाब- नहीं नहीं बहुत बाकी है (हंसते हुए) ओरिजिनली में कथक डांसर हूं मेरी सालों से इच्छा है कि मैं कुछ डांस बेस्ड शॉर्ट फिल्म करूं या फिर कोई प्रोजेक्ट करूं, जिसमें मैं अपना डांस पर्दे पर ला सकूं और मुझे लगता है कि मेरी यह इच्छा कभी ना कभी जरूर पूरी होगी क्योंकि मेरी ऑल टाइम फेवरेट पर उमराव जान है अगर मुझे वैसा कुछ मिले तुम मेरी जिंदगी सार्थक हो जाएगी . ऐसे बहुत सारे किरदार है जहां मुझे लगता है कि मैं कुछ अलग कर सकती हूं.

5. क्या आप टीवी स्क्रीन पर एक एडल्ट कैरेक्टर की मां का किरदार निभाने के लिए तैयार है.

जवाब- हां, मैं तो कर ही रही हूं. जरूरी नहीं है कि हर एक्टर को हर सीन में खूबसूरत ही लगना है क्योंकि जो कैरेक्टर की डिमांड है वो ज्यादा मायने रखती है. इनफैक्ट मैं अभी चीज इस ग्रुप में फिट हो रही हूं बहुत सारे ऐसे ही रोल्स हैं जो मुझे फ्लैशबैक में ले जाते है और फ्लैश फॉरवर्ड में भी ले जाते हैं. मैं उसी में बहुत खुश हूं कि मुझे रोल्स मिल रहे हैं, न मैं 50 की लग रही हूं ना मैं 20 की लग रही हूं. जिंदगी के हर  फेज में अलग-अलग फेज होते हैं आपको उसमें से बेस्ट निकालना होता है.

 

6.  आपका पहला नाता छोटे पर्दे से रहा है अगर कोई अच्छा किरदार ऑफर हुआ तो आप करना चाहेंगी ?

 जवाब- हां जरूर, क्यूंकि मुझे लगता है कि टीवी एक बहुत ही ब्रिलियंट मीडियम है, मेरे जो पहले 10 साल रहे हैं वह टीवी ने ही मुझे दिए हैं और अच्छे रोल्स किए हैं. मैंने अपने लास्ट शो जिसका नाम था  'एक शृंगार स्वाभिमान' का उसमें भी अहम रोल निभाया था. मैं इंतजार कर रही हूं टीवी में कुछ अच्छा मेरे लिए आए तो मैं उसे जरूर करना चाहूंगी क्योंकि स्वाभिमान के बाद मैंने टीवी पर कुछ नही किया.

7. आप अपने क्यूंकि सास भी कभी बहुत थी के किसी को- स्टार के साथ टच में है या फिर आप लोगों का कोई व्हाट्सएप ग्रुप हो, जिस पर शूटिंग के दिनों की बातें होती हो. 

जवाब- हां, हमारा एक व्हाट्सएप ग्रुप है. हम हर रोज उसपर कुछ न कुछ फॉरवर्ड कर रहे होते है. हम कॉन्स्टेंट्ली टच में है और हर साल जुलाई में हम सब मिलते है और हमेशा हमारा एक डिनर प्लान होता है. हम सब टच में है. 
 

Recommended

Loading...
Share