Peepingmoon Exclusive: बॉलीवुड से जुड़े विवादों को डायरेक्टर अपूर्व लाखिया ने बताया 'बुरा दौर', इस तरह की फिल्में बनाने की रखते हैं इच्छा

By  
on  

ओटीटी प्लैटफॉर्म वूट स्पेशल को 23 सितंबर को फेमस डायरेक्टर अपूर्व लाखिया की वेब सीरीज क्रैकडाउन रिलीज हो गई है. सकील सलीम, इकबाल खान, वलुश्चास, राजेश तेलांग, श्रिया पिलगांवकर और अंकुर भाटिया की प्रमुख भूमिका वाली क्रैकडाउन सस्पेंस और थ्रिल से भरपूर वेब सीरीज है. क्रैकडाउन में सकीब सलीम और इकबाल खान भारतीय सुरक्षा अधिकारी की भूमिका में हैं, जिनका एक ही टारगेट है, आतंकियों को नष्ट कर भारतीयों को बचाना. इस वेब सीरीज में अंकूर भाटिया पाकिस्तानी एजेंट की भूमिका में हैं, जो भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को धमकी देता है. डायरेक्टर अपूर्व लाखिया की वेब सीरीज को लेकर पीपिंगमून से खास बातचीत की है.

अपूर्व लाखिया जब ये पूछा गया की सीरीज का आईडिया उन्हें कब और कैसे आया तो डायरेक्टर ने कहा कि, 'सुरेश नायर और चिंतन गांधी ने एक स्टोरी लिखी थी.वो हमेने जब पढ़ी तो हमें अच्छी लगी की इस कहानी और अच्छे से बुनकर इसपर एक अच्छी सीरीज बना सकते हैं. तो फिर हमने इस को स्टार्ट किया.' वहीं आशुतोष गोवारिकर के असिस्टेंट के तौर पर शुरुआत करने पर अपूर्व लाखिया ने कहा कि, 'मैंने उनसे सबसे बड़ी बात ये सिखी है कि बड़ी फिल्म कैसे बनाई जाए'. वहीं साल 2017 में आई फिल्म हसीना पारकर के बाद 2020 में आई सीरीज के बीच लम्बा गेप होने पर अपूर्व ने कहा कि, 'मैं अपनी हर फिल्म के बीच थोड़ा गैप रखता हूं क्योंकि फिल्म की स्टोरी लोकेशन पर काम करने के लिए आपको जल्दबाजी नहीं चाहिए होती है. मुझे लगता है कि लाइफ में हर चीज को जल्दबाजी करने के बजाय थोड़ा तसल्ली से किया जाना चाहिए.' 

Recommended Read: PeepingMoon Exclusive: भूमि पेडनेकर स्टारर 'दुर्गावती' अमेजन प्राइम वीडियो पर होगी रिलीज

वहीं हमेशा एक्शन और थ्रिलर फिल्म बनाने वाले अपूर्व से ये पूछा गया कि क्या वह इसी जॉनर में ही आगे बढ़ना चाहते है या फिर रोमांटिक फिल्मों में भी हाथ आजमाना चाहते हैं तो डायरेक्टर ने कहा कि, 'ट्राई तो करना है बहुत कुछ ट्राई करना है अभी तो. पर इन सब के लिए कोई प्रोड्यूसर तो मिलना चाहिए (हंसते हुए). सही बोलूं तो एक्शन करने में क्या होता है पैसे ज्यादा जाते है तो उसमें क्या होता है कि अगर किसी एक्शन फिल्म प्रोड्यूसर की है तो उनको एक एक्शन डायरेक्टर ही चाहिए होता है क्योकि एक्शन डायरेक्टर को पता होता है कि इतने बजट में काम कैसे पूरा करना हैं. क्योंकि पैसे किसी और के है तो कोई रिस्क भी नहीं लेता है जल्दी.'

वहीं नेपोटिज्म, ग्रुपिज्म, और हालिया बॉलीवुड के विवाद पर अपनी राय ऱखते हुए कहा कि, 'इस पर बस इतना कह सकता हूं कि ये जो भी चल रहा है  बहुत बुरा चल रहा है.' 

Recommended

Loading...
Share