PeepingMoon Exclusive: राजकुमार संतोषी की 'गांधी वर्सेस गोडसे' '[email protected]' नाटक पर होगी आधारित ?

By  
on  

'द लीजेंड ऑफ भगत सिंह' के लगभग दो दशक बाद, फिल्ममेकर राजकुमार संतोषी एक हिस्टोरिकल व्यक्ति के जीवन पर बेस्ड फिल्म बनाने जा रहे है. 'घायल', 'दामिनी', 'पुकार' और 'लज्जा' जैसी पावरफुल और टफ सब्जेक्ट पर फिल्में बनाने वाले  दिग्गज डायरेक्टर अब एक हिस्टोरिकल पीरियड ड्रामा बनाने जा रहे है. राजकुमार संतोषी की अपकमिंग प्रोजेक्ट महात्मा गांधी के अंतिम वर्षों पर बेस्ड होगा. 1947 और 1948 के बीच सेट, इस प्रोजेक्ट को गांधी और उनकी फिलॉसफ़ी पर बेस्ड माना जा रहा है. खबर है कि शूटिंग रिस्ट्रिक्शन के बाद जल्द ही फिल्म पूरी की जाएगी. 

वहीं Peepingmoon.com को एक्सक्लूसिव जानकारी मिली है कि संतोषी की ये फिल्म जिसे अभी टेंटेटिवली 'गांधी वर्सेज गोडसे' टाइटल दिया गया है, लेखक असगर वजाहत के लोकप्रिय नाटक [email protected] पर आधारित होगा. यह प्ले महात्मा गांधी और उनके हत्यारे नाथूराम गोडसे की विचारधाराओं को आमने-सामने लाता है और विपरीत विचारधारा वाले दो आंकड़ों के बीच एक संवाद कायम करता है. ये नाटक एक काल्पनिक घटना पर आधारित है जो नाथूराम गोडसे द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को गोली मारने के साथ शुरू होती है. बापू उसकी गोली से मरते नहीं बल्कि होश में आने पर वो सबसे पहले गोडसे के बारे में जानना चाहते हैं. वो कुछ समय बाद वर्तमान भारतीय सरकार से गोडसे से जेल में मिलने की अनुमति मांगते . लेकिन उनकी जान को गोडसे से खतरा है कहकर उन्हें रोकने की कोशिश की जाती है. अपनी मांग को लेकर गाँधी अनशन पर बैठ जाते हैं और अंततः सरकार को झुकना पड़ता है. गाँधी गोडसे से मिलने उसके वार्ड में पहुँचते हैं. जिसके बाद जेल में गाँधी और गोडसे की बातचीत पर ये नाटक केंद्रित है.

PeepingMoon Exclusive: नीरज पांडे की अपकमिंग फिल्म 'इश्क नॉट ए लव स्टोरी' में लीड रोल निभाएंगे सिद्धांत गुप्ता और वेदिका पिंटो


कहा जाता है कि संतोषी ने इस नाटक को लेखक की दृष्टि के लिए सच होने के लिए अनुकूलित किया है और इस फिल्म के माध्यम से हमारी हालिया सामाजिक-राजनीतिक स्थिति के संदर्भ में प्रासंगिक मुद्दों को उठाया है. यह सांस्कृतिक अस्मिता और प्रतिनिधित्व की राजनीति के मुद्दे को संबोधित करता है और आजादी के बाद भारत द्वारा अपनाए गए विकास मॉडल पर भी सवाल उठाता है. मार्मिक रूप से फिल्म में यह भी दिखाया गया है कि कैसे लोग धर्म के माध्यम से अपनी दुनिया का बोध कराते हैं.

इसके अलावा, हमें यह भी पता चला है कि संतोषी ने गांधी वर्सेज गोडसे में लीड रोल के लिए थिएटर अभिनेताओं को सेलेक्ट किया है. गुजराती एक्टर दीपक अंतानी जहां बापू की भूमिका निभाएंगे, वहीं मराठी अभिनेता चिन्मय मंडलेकर को नाथूराम गोडसे के किरदार के लिए साइन किया गया है. संतोषी द्वारा अपने बैनर संतोषी प्रोडक्शंस के तहत बनाई गई इस फिल्म में आरिफ ज़कारिया, अनुज सैनी और पवन चोपड़ा भी प्रमुख भूमिकाओं में हैं. 
 

Recommended

Loading...
Share