PeepingMoon Exclusive: शेफाली शाह ने 'हैप्पी बर्थडे मम्मी जी' की एंडिंग का गलत अर्थ निकाले जाने पर कहा- 'यह मैं और मेरा हैंड शॉवर अक्सर ये बातें करते हैं'

By  
on  

कई खूबसूरत किरदारों को ऑनस्क्रीन जी चुकी एक्ट्रेस शेफाली शाह, ने डायरेक्टर की कुर्सी अपनी डायरेक्टोरियल डेब्यू शॉर्ट फिल्म 'हैप्पी बर्थडे मम्मी जी' से संभाला है. इस फिल्म को 23 जुलाई को रिलीज किया गया था, जिसे दर्शकों द्वारा खूब पसंद किया जा रहा है. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि उन्होंने इस फिल्म को डायरेक्ट ही नहीं बल्कि लिखा और उसमे काम भी किया है. ऐसे में PeepingMoon को दिए इंटरव्यू में अपनी शॉर्ट फिल्म से जुडी एक्ट्रेस ने कई सारी बाते की हैं.

शैफाली ने PeepingMoon से बात करते हुए फिल्म की एंडिंग की गलत व्याख्या, बाथटब और हैंड शॉवर के तोड़ने वाले सीन से लेकर खुद को प्यार करने के बारे में बातें की है. बाथटब वाले शॉट के साथ फिल्म को खत्म करने के बारे में बात करते हुए वह कहती हैं, "आप जानते हैं, दुर्भाग्य से, बहुत से लोगों को अंत नहीं समझा है. मुझे लिफाफे को थोड़ा और खोलना चाहिए था. वह सिर्फ बाथटब में बैठती नहीं है, बल्कि उसने हाथ में हैंड शॉवर भी लिया है. यह उसकी जरूरत है, यह ऐसा है, 'मुझे किसी की जरूरत नहीं है, यह मेरा सुखद अंत है'. भगवान का शुक्र है कि आपको फिल्म की कहानी समझ में आई. एक को ऐसा लगा कि मैंने फिल्म के अंत में आत्महत्या कर ली है, जो और भी बुरा था."

(Happy Birthday Mummy Ji Review: रिश्तो के कैद से खुद की आजादी के कुछ पल की छोटी सी कहानी है यह शॉर्ट फिल्म, शेफाली शाह की एक्टिंग और डायरेक्शन ने किया है इम्प्रेस)

एक्ट्रेस ने आगे बात करते हुए कहा है, "यह ऐसा है कि 'मैं और मेरा हैंड शॉवर अक्सर यह बातें करते है' कुछ इस तरह. यह ऐसी चीजें हैं जिन्हें महिलाएं स्वीकार नहीं करती हैं. मुझे लगता है कि अब सभी इंटरव्यू में, मैं सिर्फ हैंड शॉवर (हंसते हुए) के बारे में बात करने वाली हूं."

शेफाली शाह द्वारा लिखित और निर्देशित, हैप्पी बर्थडे मम्मी जी सनशाइन पिक्चर्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा निर्मित और आशिन ए शाह द्वारा सह-निर्मित है.

Recommended

Loading...
Share